रायपुर। जन चौपाल में आदिवासी विकास विभाग के छात्रावास-आश्रमों में काम कर रही प्रशिक्षित एएनएम और नर्सों को वेतन नहीं मिल रहा है। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से शिकायत की। सीएम ने आदिवासी विकास विभाग के सचिव से विस्तृत प्रतिवेदन मांगा है।

प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि दो-तीन वर्षों से वे लोग काम कर रहे थे, लेकिन इस वर्ष जनवरी से उनसे काम नहीं कराया जा रहा है। उनकी नियुक्ति छात्रावास आश्रमों में किशोरी बालिकाओं के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए की गई थी। नई राजधानी प्रभावित किसान कल्याण समिति के प्रतिनिधि मंडल ने भी मुख्यमंत्री से मुलाकात की और अपनी विभिन्न् मांगों के संबंध में ज्ञापन सौंपा।

सीएम ने ज्ञापन परीक्षण के लिए मुख्य सचिव को भेजा है। रायपुर शहर के ईसाई समाज के प्रतिनिधि मंडल ने रायपुर शहर में कब्रिस्तान के लिए भूमि उपलब्ध कराने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री के निर्देश पर उनका आवेदन कलेक्टर रायपुर को भेजा गया है।

छत्तीसगढ़ उत्कल घसिया महासमाज रायपुर के प्रतिनितिधि मंडल ने नुआखाई का न्यौता दिया। प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि सामाजिक समरसता का संदेश देने के लिए एक सितंबर को बाइक रैली निकाली जाएगी। विशेष पिछड़ी जनजाति कमार बाहुल्य ग्राम पंचायत के सरपंच भोजराज धु्रव ने तौरेंगा में रंगमंच, सीसी रोड, देवगुड़ी और पचरी निर्माण की मांग रखी।

मोहड़ जलाशय परियोजना से प्रभावित बालोद जिले के ग्राम मरसकोला के किसानों ने मुलाकात की। मुख्यमंत्री से उन्होंने मोहड़ बांध से प्रभावित 75 प्रतिशत कृषि भूमि के पूर्ण डूबान में आने वाले कृषकों को पुनर्वास तथा अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि का लाभ देने का आग्रह किया। राजनांदगांव के अंबागढ़ चौकी विकासखंड अंतर्गत ग्राम मोहड़ में मोहड़ जलाशय परियोजना का निर्माण किया जा रहा है।

इन लोगों की शिकायतों का हुआ निराकरण

रायगढ़ से पहुंचे दिव्यांग मिथलेश यादव के साथ मुख्यमंत्री ने सेल्फी ली।

दंतेश्वरी मैय्या शक्कर कारखाना के कर्मचारी ने नियमितिकरण की मांग की।

अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में हिस्सा लेने वाले रंजीत खलखो को एक लाख का स्वेच्छानुदान।

वयोवृद्ध फागुनी बाई को घुटना रिप्लेसमेंट के लिए मिलेगी आर्थिक सहायता।

स्वेच्छानुदान मद से 12 जरूरतमंदों के लिए स्वीकृत किए 1.40 लाख