रायपुर। Corona In Child Care Home: रायपुर माना के बाल संप्रेक्षण गृह में कोरोना का बम फूटा है। यहां 45 अपचारी बालक कोरोना की चपेट में आ गए हैं। वहीं, पांच स्टाफ भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इतनी ज्यादा संख्या में मिलने से यहां हड़कंप मच गया।

45 बच्चे और पांच स्टाफ कोरोना संक्रमित होने के बाद संप्रेक्षण गृह को आइसोलेशन सेंटर में तब्दील किया गया है। बच्चों के उपचार के लिए छह नर्स व एक डॉक्टर की ड्यूटी लगाई गई है। कोरोना विस्फोट को लेकर महिला बाल विकास अधिकारी अशोक पाण्डेय ने बताया कि बाल संरक्षण गृह में वर्तमान में 75 बच्चे है और 15 स्टॉफ, सभी का आरटीपीसीआर टेस्ट कराया गया, जिनमें 45 बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए है।

मामला कलेक्टर के संज्ञान में आते ही इसे कोविड सेंटर में तब्दील कर दिया गया। सभी बच्चों को आइसोलेशन में रखा गया है, जिनके इलाज के लिए डॉक्टर और नर्स की टीम भी लगाई गई है। अभी की स्थिति में सभी बच्चे ठीक हैं।

कैसे हुए बच्चे संक्रमित

महिला बाल विकास अधिकारी ने बताया कि एक कैदी जो बाहर से आया था। उसे सेंट्रल जेल लेकर जाना था। जेल परिसर से आदेश था कि पहले उस बच्चे का आरटीपीसीआर टेस्ट हो, टेस्ट के बाद उस बच्चे की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। तब तक वो बाहरी बच्चा हमारे संप्रेक्षण गृह के बच्चों से मिल चुका था, इसलिए सभी का टेस्ट कराया गया, जिसमें 45 बच्चे पॉजिटिव मिले। कोरोना संक्रमण के प्रारंभिक लक्षण प्राप्त होते ही तत्काल सभी संक्रमित बच्चों को सामान्य बच्चों से पृथक करते हुए संस्था के अंदर ही आइसोलेशन सेंटर बनाकर उनके त्वरित एवं तत्काल उपचार की कार्रवाई आरंभ की गई।

Posted By: Azmat Ali

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags