रायपुर, राज्य ब्यूरो। Corona Patients Treatment: छत्तीसगढ़ में कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए राहत की खबर है। अब सरकार गंभीर मरीजों के इलाज के लिए अमेरिका के मेयो अस्पताल के डाक्टरों की सलाह लेगी। इसके लिए वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से रिपोर्ट साझा करने के साथ मरीज की स्थिति को लाइव दिखाया जाएगा। इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने मेयो अस्पताल के चिकित्सकों और प्रबंधकों से चर्चा की है।

मंत्री सिंहदेव ने बताया कि इस अंतरराष्ट्रीय संस्था मेयोक्लीनिक में लगभग 4-5 हजार प्रोफेशनल वैज्ञानिक एवं 40-50 हजार अन्य कर्मी जुड़े हैं। यह संस्थान तीन प्रतिष्ठानों के माध्यम से अलग-अलग शहरों में कार्य करती है। छत्तीसगढ़ में इस संस्थान के माध्यम से हम स्वास्थ्य क्षेत्र में किस प्रकार कार्य कर सकते हैं। इस पर विस्तृत बातचीत हुई।

संस्था में कार्यरत भारतीय मूल के लोगों ने संकट की इस घड़ी में भारत के लिए कार्य करने की इच्छा जाहिर की। इसके साथ ही वर्तमान व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने, घरों से अस्पताल तक पहुंचने की व्यवस्था, घरों में रहते समय प्रबंधन की व्यवस्था एवं आइसीयू में प्रबंधन समेत अन्य महत्वपूर्ण विषय पर भी मेयोक्लीनिक के प्रतिनिधि से चर्चा की गई।

एपेडेमिक कंट्रोल के संचालक डाक्‍टर सुभाष मिश्रा ने बताया कि रायपुर के आंबेडकर अस्पताल में टेलिमेडिसीन की सुविधा है। इस सुविधा का उपयोग अब विदेश के डाक्टरों के परामर्श के लिए किया जाएगा। अमेरिका के मेयो अस्पताल के डाक्टरों की कंसल्टेंसी जल्द शुरू हो जाएगी।

डाक्‍टर सुभाष मिश्रा ने बताया कि डाक्टरों से इलाज और परिणाम के बारे में विस्तार से चर्चा होगी। इसके लिए अमेरिका के डाक्टरों का समय पहले से तय कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि कोरोना का सबसे ज्यादा प्रकोप अमेरिका में देखने को मिला।

वहां के चिकित्सकों ने बेहतर इलाज और तकनीक का इस्तेमाल करके मरीजों को स्वस्थ्य किया है। छत्तीसगढ़ में सामान्य मरीजों को यहां के विशेषज्ञ ठीक करने में सफल हो रहे हैं, लेकिन कुछ मरीजों में ऐसे लक्षण आ रहे हैं, जिसका इलाज प्रदेश के डाक्टर पहली बार कर रहे हैं। ऐसे में इन गंभीर मरीजों को सीधे मेयो अस्पताल के विशेषज्ञों की देखरेख में इलाज किया जाएगा।

तनाव दूर करने हो रही डाक्टरों की काउंसिलिंग

कोरोना के तनाव को दूर करने के लिए मरीजों के साथ डाक्टरों की भी काउंसिलिंग हो रही है। डाक्‍टर मिश्रा ने बताया कि प्रदेश के सभी जिला अस्पताल में मानसिक परामर्श केंद्र शुरू कर दिया गया है। इसमें मरीजों के तनाव और डर को दूर किया जा रहा है। अस्पताल में लगातार काम कर रहे डाक्टरों के तनाव और निराशा को दूर करने के लिए वरिष्ठ चिकित्सकों की ओर से परामर्श दिया जा रहा है। वे डाक्टरों को मोटिवेट कर रहे हैं और तनाव दूर करने के उपाय भी बता रहे हैं।

Posted By: Azmat Ali

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags