रायपुर। Corona Virus In Chhattisgarh: रायपुर में अप्रैल में 52 हजार 649 कोरोना प्रभावित मरीजों के कांट्रेक्ट ट्रेसिंग का कार्य किया गया। इसके तहत इन मरीजों के संपर्क में आए हाई रिस्क सिंप्टोमेटिक 43, 887 नागरिकों और हाई रिस्क एसिंप्टोमेटिक 1,79,365 नागरिकों की ट्रेसिंग की गई।

अपर कलेक्टर एवं ट्रेसिंग कार्य की नोडल अधिकारी पद्मिनी भोई ने बताया कि रायपुर जिले में सर्किट हाउस के सभागृह और नालंदा परिसर में ट्रेसिंग कार्य तीन शिफ्टों में रात-दिन किया जा रहा है। इसके लिए यहां 285 अधिकारियों-कर्मचारियों की टीम लगी हुई है। इसके अलावा फील्ड में 220 अधिकारी-कर्मचारी ट्रेसिंग कार्य को अंजाम दे रहे हैं।

ट्रेसिंग के दौरान टीम द्वारा मरीज के प्राइमरी कांटेक्ट में आए लोगों की संकलित जानकारी के आधार पर कोरोना सैंपलिंग टीम द्वारा संभावित लोगों के घर पहुंच कर उनका कोरोना टेस्ट भी किया जाता हैं, जिससे उनमें भी कोरोना के लक्षण होने तथा उनकी रिपोर्ट पाजिटिव मिलने पर उनके इलाज का कार्य तत्काल किया जाए और उन्हें भी दूसरे लोगों से आइसोलेट किया जा सके।

अपर कलेक्टर ने ऐसे सभी लोगों, जिनमें कोरोना के लक्षण है तथा जिन्होंने टेस्ट कराए हैं उनसे अपील की है कि वे अपने मोबाइल नंबर और पता की जानकारी पूरी तरह से सही दें। इससे ट्रेसिंग कार्य में काफी सहायता मिलती है। उनके साथ-साथ अन्य लोगों को कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में मदद मिलती है। गलत जानकारी देने से पूरी व्‍यवस्‍था चौपट हो जाती है। सरकार के पास जानकारी भी सही से नहीं मिल पाती है। इसलिए देशहित में सही जानकारी मुहैया कराई जाए।

Posted By: Azmat Ali

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags