Coronavirus in Chhattisgarh : रायपुर। छत्तीसगढ़ में मिले सातवें कोरोना पॉजिटिव मरीज का भी लंदन से आने के बाद होम आइसोलेशन में रहने के बजाय लोगों से मिलता-जुलता रहा। जबकि स्वास्थ्य विभाग ने उसे निर्देशों का पालन करने की सख्त हिदायत दी थी। युवक की इस लापरवाही ने कई लोगों को खतरे में डाल दिया है। प्रशासन युवक पर एफआइआर कराने की बात कह रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने मिली जानकारी के अनुसार 21 वर्षीय युवक 18 मार्च को लंदन से मुंबई होते हुए रायपुर पहुंचा। एयरपोर्ट पर जांच के बाद उसे होम आइसोलेशन में रहने का निर्देश दिया गया था। बावजूद उसका परिजन के अलावा लोगों से भी मिलना-जुलना लगा रहा। मामला तब सामने आया जब स्वास्थ्य विभाग की टीम विदेश से पहुंचे लोगों की स्वास्थ्य जांच के नाम पर घर का जाकर सर्वे कर रही थी। इसमें युवक का सैंपल भी 27 मार्च को लेकर एम्स में टेस्ट के लिए भेजा गया। 28 मार्च को युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद हड़कंप मच गया। स्वास्थ्य विभाग ने तुरंत टीम भेजकर युवक को एम्स में भर्ती कराया। वहीं युवक के संपर्क में आए 22 परिजन को होम आइसोलेट किया गया है। इसमें से 16 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है, जबकि बाकियों की स्क्रीनिंग की गई है।

घूमता रहा युवक, कई लोगों के आया संपर्क में

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार युवक द्वारा होम आइसालेशन में रहने के निर्देश का पालन नहीं किया गया है। अधिकारी ने बताया कि युवक का 10 दिनों से लोगों से मिलना जुलना लगा रहा। परिवार के 22 सदस्यों को होम आइसालेट कर दिया गया है। युवक जिन-जिन लोगों से मिला है, उसकी पूरी जानकारी स्वास्थ्य विभाग ले रहा है। साथ ही देवेंद्र के जिस क्षेत्र में युवक रहता है, उस क्षेत्र की भी सर्वे किया जा रही है, ताकि जो भी संपर्क में आया और संक्रमित हुआ हो। उसकी जांच की जा सके।

376 लोगों के सैंपल अब तक जांचे

स्वास्थ्य विभाग द्वारा अब तक प्रदेश भर से 376 लोगों के सैंपल की जांच की गई है। सात केस पॉजिटिव आए हैं, जबकि 369 सैंपल निगेटिव हैं। स्वास्थ्य विभाग ने अब तक सबसे अधिक रायपुर में 242 सैंपल की जांच की है। स्वास्थ्य विभाग में अधिकारियों ने पॉजिटिव मरीज के परिजन या संक्रमित व्यक्ति से किसी भी तरह से संपर्क में आए होने पर 14 दिनों तक होम क्वारंटाइन में रहने के निर्देश दिए हैं।

युवक 18 मार्च को लंदन से लौटा है। निर्देश के बाद भी यह लोगों से मिलता-जुलता रहा। जबकि स्वास्थ्य विभाग ने विदेश से आने वाले सभी लोगों को 14 दिनों तक होम आइसोलेशन में रहने के निर्देश दिए थे। ऐसे में इसने परिजन के साथ ही अन्य लोगों को भी खतरे में डाल दिया है। युवक जिन-जिन लोगों से मिला है, सबकी हिस्ट्री खंगाल रहे हैं। 22 परिजन को होम आइसोलेशन में रखा गया, जबकि 16 के सैंपल भेजे हैं। प्रशासन इसपर जरूर कार्रवाई करेगी।- डॉ. मीरा बघेल, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, जिला-रायपुर

विदेश से लौटे लोगों के साथ ही अलग-अलग राज्यों से पहुंचे लोगों की ट्रैवल हिस्ट्री के आधार पर जांच की जा रही है। चिन्हित लोगों को होम आइसोलेट किया गया है। जबकि जो लोग जांच के दायरे में अब तक नहीं आए हैं, उन्हें भी आइसालेशन में रहने की अपील की जा रही है। होम आइसोलेशन या क्वारंटाइन के नियमों का उल्लघंन करते पाए जााने पर काननू कार्रवाई कर रहे हैं।- नीरज बंसोड़, संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना