रायपुर। Coronavirus In Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में पहली बार 18 मार्च को राजधानी से पहला केस सामने आने के बाद 25 मार्च को राज्य समेत देश भर में लॉकडाउन लगा था। उस दिन तक प्रदेश में महज तीन संक्रमण के मामले ही सामने आए थे। लेकिन छह महीने में अब तक 95 हजार 623 संक्रमण के मामले आ चुके हैं। वर्तमान में जिस तेजी से संक्रमण पांव पसार रहा है, सच में यह स्थिति बेहद चिंताजनक है। चिकित्सा विशेषज्ञों द्वारा संक्रमण के बढ़ते मामलों का सबसे बड़ा कारण शारीरिक दूरी का पालन नहीं करना, भीड़ और सामूहिक आयोजन का हिस्सा बनना है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार किसी क्षेत्र से मिलने वाले 20 फीसद ऐसे केस, जिनकी हिस्ट्री नहीं होती है। वह इलाका सामाजिक संक्रमण के दायरे में आता है। प्रदेश में मिलने वाले कई ऐसे मामले हैं, जिनकी हिस्ट्री ही नहीं मिली है और एक चेन की तरह लोग संक्रमित होते जा रहे हैं। सामाजिक संक्रमण की ओर बढ़ने की बात को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है।

भीड़ से बचना जरूरी

डीकेएस अस्पताल के सह अधीक्षक डॉ. हेमंत शर्मा ने कहा कि भीड़ का हिस्सा बनना यानी संक्रमण को दावत देना है। कोरोना से बचाव के लिए जितना हो सके, शारीरिक दूरी का पालन करना और मास्क पहनना जरूरी है। सामूहिक आयोजनों, बाजार व अन्य भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने या इसका हिस्सा बनने से बचें।

ज्यादा ही जरूरी हो तो व्यक्ति से कम से कम तीन फीट की दूरी बनाकर रखें, मास्क लगाएं और घर आकर हाथ-पैर अच्छे से धोने व कपड़े बदलकर ही प्रवेश करें। शासकीय निर्देशों का पालन और स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहकर ही हम कोरोना से बच सकते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020