रायपुर। Danex Created History: अच्छी क्वालिटी अपनी ब्रांड वैल्यू और विश्वसनीयता की बदौलत दंतेवाड़ा की कंपनी डेनेक्स एक सफलतम कंपनी के तौर पर स्थापित हो चुकी है। ब्रांड डेनेक्स ने बैंगलुरु की एक कंपनी को एक करोड़ 20 लाख का माल बेचा है। इसके अलावा ट्राइफेड को छह लाख रुपए का माल रवाना किया गया है। यहां पूरी मेहनत और लगन से काम कर रही महिलाएं इस सफलता से काफी खुश हैं। उन्हे उम्मीद है कि उनका जिला जल्द ही गरीबी से मुक्त हो जायगा।

बैंगलुरु की कंपनी को डेनेक्स द्वारा निर्मित कपड़ों को सोमवार को जिले से रवाना किया गया है। बैंगलुरू की एक कंपनी के द्वारा डेनेक्स निर्मित कपड़ों को देश के लीडिंग फैशन ब्रांड्स में भेजा जाएगा, जहां से ऑनलाइन माध्यमों से देशभर के ग्राहक इसकी खरीदी कर सकते हैं।

डेनेक्स के शुभारंभ अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसकी तारीफ करते हुए कहा था कि जल्द जी इसका नाम देश विदेश में भी चमकेगा। जिले के कलेक्टर दीपक सोनी के मार्गदर्शन में आदिवासी बहुल एवं नक्सल प्रभावित जिले की महिलाओं को ये सुनहरा अवसर मिला है। कोविड-19 गाइड लाइंस का पालन करते हुए सभी महिलाएं निरंतर काम कर रही हैं और अपने हुनर का लोहा भी मनवा रही हैं, तभी तो शुभारंभ के इतनी जल्दी बैंगलुरु जैसे बड़े शहर की एक कंपनी ने पूरे एक करोड़ 20 लाख रुपए का माल खरीदा है।

इस माल के बदले वर्तमान में उन्हें 10 लाख 63 हजार रुपए का चेक प्रदाय किया गया है। पहली खेप जाने के बाद उनके आत्मविश्वास में बढ़ोत्तरी हुई है और वे सभी और भी लगन से काम करने के लिए जुट गई हैं। इस अवसर पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए डेनेक्स की कर्मवीर महिलाओं का कहना है कि अब वो दिन दूर नहीं जब हमारा दंतेवाड़ा जिला भी गरीबी मुक्त हो जाएगा।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 31 जनवरी 2021 को गीदम विकासखंड के ग्राम हारम में बिहान महिला समूहों द्वारा संचालित डेनेक्स नवा दंतेवाड़ा गारमेंट फैक्ट्री का उद्घाटन किया और अवलोकन के दौरान वहां काम कर रही महिलाओं और बालिकाओं से बातचीत कर उनका उत्साहवर्धन तथा फैक्‍ट्री में तैयार किए जा रहे वस्त्रों की गुणवत्ता की तारीफ की थी।

दंतेवाड़ा जिले में गरीबी, उन्मूलन के लिए जिला प्रशासन की पहल पर स्थानीय महिलाओं को प्रशिक्षण देकर इस गारमेंट फैक्ट्री की शुरुआत की गई है। इस अत्याधुनिक फैक्ट्री में महिलाओं को नियमित रूप से रोजगार उपलब्ध कराने के मद्देनजर यहां के उत्पादों के बिक्री के लिए ट्राइफेड, सीआरपीएफ, एनएमडीसी के साथ एमओयू (अनुबंध) किया गया है। इस प्रोजेक्ट के लिए 1.92 करोड़ रुपये की टेक्सटाइल यूनिट पांच एकड़ की भूमि पर लगाई गई है।

Posted By: Azmat Ali

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags