रायपुर। राज्य ब्यूरो। राज्य में भले ही मानसून ने दस्तक दे दी है, लेकिन अभी भी बांधों के कंठ सूखे हुए हैं। जल संसाधन विभाग के अफसरों की मानें तो इस बार पिछले वर्षों की तुलना में गर्म के दिनों की संख्या अधिक रही। इसके कारण निस्तारी समेत सिंचाई व अन्य सुविधाओं के लिए अधिक पानी देना पड़ा।

नतीजा यह हुआ कि पिछले तीन वर्षों की तुलना में अभी की स्थिति में इस साल जलाशयों में जलभराव नहीं हो पाया है। प्रदेश के बड़े बांधों में वर्ष 2021 में 23 जून की स्थिति में औसतन 66.54 प्रतिशत जलभराव था, जो वर्ष 2022 में सिर्फ 41.02 प्रतिश्ात ही रह गया है। यही स्थिति छोटे बांधों की है। प्रदेश के छोटे बांधों में पिछले वर्ष की तुलना में दस प्रतिश्ात कम पानी है। वर्ष 2022 में 38.09 प्रतिशत जलभराव है, जो वर्ष 2021 में 48.72 प्रतिश्ात था।

मिनीमाता बांगो, गंगरेल, खारंग, मनियारी जैसे बड़े जलाशयों में जलस्तर तीन से चार प्रतिशत तक बढ़ा है। प्रदेश 12 बड़े जलाशयों की कुल क्षमता 5355.709 मिलियन घन मीटर है। 22 जून 2022 की स्थिति में तक इन जलाशयों में 2196.880 मिलियन घन मीटर पानी जमा हो पाया है, जो कि कुल क्षमता का 41.02 प्रतिशत है। साल 2020 में इस तारीख पर यह 66.54 प्रतिशत और 2021 में 48.71 प्रतिशत भरे हुए थे। इसी प्रकार मध्यम स्तर 34 जलाशयों की क्षमता 1004.519 मिलियन घन मीटर है। 22 जून 2022 की स्थिति में 382.580 मिलियन घन मीटर पानी भरा हुआ है।

आंकड़ों पर एक नजर

12 बड़े जलाशय और 34 छोटे जलाशय प्रदेश में

5355.709 मिलियन घन मीटर जल भराव क्षमता बड़े जलाशयों में

2196.880 मिलियन घन मीटर भरे बड़े जलाशय

1004.519 मिलियन घन मीटर जल भराव क्षमता छोटे जलाशयों में

382.580 मिलियन घन मीटर भरे छोटे जलाशय

बड़े जलाशयों में अभी तक इतना भरा पानी (जल भराव के आंकड़े मिलियन घन मीटर में )

जलाशय का नाम जलभराव क्षमता भराव प्रतिशत

मिनीमाता बांगो, कोरबा 2894.00 1429.20 49.38

गंगरेल बांध, धमतरी 767.00 362.97 47.32

तांदुला, बालोद 302.31 70.77 23.41

दुधवा, कांकेर 284.12 44.15 15.54

सिकसार, गरियाबंद 198.88 76.78 38.61

खारंग, बिलासपुर 192.32 104.84 54.51

सोंदूर, धमतरी 180.00 9.56 5.31

मुरुमसिल्ली, धमतरी 162.00 0.00 0.00

कोदर, महासमुंद 149.00 10.92 7.33

मनियारी, मुंगेली 147.72 69.35 46.95

केलो, रायगढ़ 61.95 18.34 29.60

अरपा भैंसाझार, बिलासपुर 16.41 0.00 0.00

22 जून की स्थिति में पिछले सालों के आंकड़े

साल जलभराव प्रतिश्ात बड़े जलाश्ाय

2022 41.02

2021 66.54

2020 48.71

---------

22 जून की स्थिति में पिछले सालों के आंकड़े

साल जलभराव प्रतिश्ात छोटे जलाश्ाय

2022 38.09

2021 48.72

2020 40.11

एक जून से अब तक इतनी हुई बारिश्ा

एक जून से अब तक सूरजपुर में 50.0 मिमी (मिली मीटर), बलरामपुर में 42.5 मिमी, जशपुर में 47.7 मिमी, कोरिया में 67.5 मिमी, रायपुर में 56.6 मिमी, बलौदाबाजार में 99.7 मिमी, गरियाबंद में 85.9 मिमी, महासमुंद में 74.1 मिमी, धमतरी में 64.1 मिमी, बिलासपुर में 100.1 मिमी, मुंगेली में 129.8 मिमी, रायगढ़ में 84.0 मिमी, जांजगीर-चांपा में 148.8 मिमी, कोरबा में 93.0 मिमी, दुर्ग में 68.3 मिमी, कबीरधाम में 90.6 मिमी, राजनांदगांव में 84.4 मिमी, बालोद में 135.2 मिमी, बेमेतरा में 93.7 मिमी, बस्तर में 61.0 मिमी, कोंडागांव में 44.5 मिमी, कांकेर में 58.8 मिमी, नारायणपुर में 44.6 मिमी, दंतेवाड़ा में 77.4 मिमी, सुकमा में 74.3 मिमी और बीजापुर में 75.9 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड हुई है।

वर्जन

पिछले वर्षो में गर्मी के दिनों का अंतराल कम था। इस बार 10 से 12 दिन अधिक रहा है। इसके अलावा पिछले वर्ष समय-समय पर बारिश्ा भी होती रही है। इस बार निस्तारी और अन्य के लिए अधिक पानी देने से जलाश्ायों में अभी जलभराव की कमी है, झमाझम बारिश्ा होने पर ही बांध भर पाएंगे। - आरके नगरिया, मुख्य अभियंता, महानदी परियोजना, रायपुर छत्तीसगढ़

------------

23 संदीप 02

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close