रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि.

स्टेज पर जैसे ही मूक बधिर बच्चे पहुंचे, हॉल में मौजूद दर्शकों ने तालियों की गड़गड़ाहट से उनका स्वागत किया। फिर देश भक्ति गीत और अन्य गीतों की प्रस्तुति के साथ डांस कर दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। मौका था प्रज्ञा कर्ण शाला एवं छात्रावास की ओर से आयोजित वार्षिकोत्सव का। इसमें बच्चों ने नृत्य के माध्यम से वर्तमान परिवेश पर कटाक्ष किया।

सिविल लाइन स्थित वृंदावन हॉल में आयोजित वार्षिकोत्सव में बच्चों ने आपसी नोकझोक के साथ ही वर्तमान दौर में सेल्फी के बढ़े क्रेज को प्रदर्शित किया। इसमें बच्चों ने बताया कि किस तरह से लोग मोबाइल में व्यस्त रहते हैं। देश में हो रही बालात्कार जैसी जघन्य अपराधों को नृत्य के माध्यम से प्रदर्शित किया है। साथ ही पंथी नृत्य की मनमोहक प्रस्तुति दी। बच्चों की प्रस्तुति को देख हॉल में मौजूद दर्शकों ने जमकर तालियां बजाई। इस अवसर पर उत्कृष्ट छात्रों और शिक्षकों को सांसद सुनील सोनी ने सम्मानित किया। कार्यक्रम में संस्था के अध्यक्ष प्रकाश जोशी, सचिव सुरेश कुमार अग्रवाल, डॉ. अमिता साहू और चंद्रहास निर्मलकर समेत अनेक पदाधिकारी और विद्यार्थी उपस्थित रहे।

सांग की हर एक बीट पर थी पकड़

मूक बधिर बच्चों की प्रस्तुति देख ऐसा लग रहा था कि नॉर्मल बच्चे डांस कर रहे हैं। गाने की एक एक बीट के साथ बच्चों के कदम ताल फिट बैठ रहे थे। स्कूल की प्राचार्य श्वेता भोसले के मुताबिक बच्चों को 10 दिनों तक प्रैक्टिस कराई गई। इसमें बच्चों को केवल स्टेप्स सिखाए गए थे। उसी के आधार पर बच्चों ने अपनी प्रस्तुति दी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local