रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना काल के पिछले दो सालों में छत्तीसगढ़ी फिल्मों के करीब 15 कलाकार हमेशा के लिए बिछड़ गए। इनमें अभिनेता, गीतकार, गायक, संगीतकार, कोरियोग्राफर आदि ने छालीवुड में अपनी विशेष छाप छोड़ी थी। ऐसे दिवंगत कलाकारों के नाम पर गली-सड़क का नामकरण किए जाने की मांग छालीवुड के कलाकारों ने की है। गत दिनों संस्कृति विभाग के सभागार में दिवंगत कलाकारों के योगदान को याद करते हुए श्रद्धांजलि दी गई।

कार्यक्रम में शामिल कलाकारों ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया कि जो कलाकार जिस क्षेत्र में निवास करते थे, उस इलाके की सड़क का नामकरण उन कलाकारों के नाम पर किया जाए। इसके लिए शीघ्र ही नगर निगम को प्रस्ताव भेजा जाएगा।

ये 15 कलाकार नहीं रहे

छत्तीसगढ़ी सिनेमा ने पिछले दो वर्षों में लक्ष्मण मस्तूरिया (गायक एवं गीतकार), भैयालाल हेड़ाउ (अभिनेता एवं गायक), कल्याण सेन (गायक एवं संगीतकार), क्षमानिधि मिश्रा (प्रोड्यूसर, डायरेक्टर एवं अभिनेता), एजा वारसी (डायरेक्टर एवं अभिनेता), आशीष शेन्द्रे (अभिनेता), अरुण काचलवार (डायरेक्टर एवं अभिनेता), निशांत उपाध्याय (कोरियोग्राफर एवं अभिनेता), गजेन्द्र कुंबलकर (कोरियोग्राफर), मोहम्मद सिरा (संगीतकार), फर इकबाल (गीतकार व गायक), अरुण बंछोर (फ़ल्मि पत्रकार), धर्मेंद्र सोनी (अभिनेता एवं फाइट मास्टर), महेश गजेन्द्र (फ़ल्मि कलाकार), डा. प्रद्युमन तिवारी (अभिनेता) को खो दिया।

छत्तीसगढ़ फ़िल्म प्रोड्यूसर एसोसिएशन, छत्तीसगढ़ फिल्म इंडस्ट्री एसोसिएशन, अलाप आर्टिस्ट एसोसिएशन एवं छत्तीसगढ़ आल आर्टिस्ट एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में अभिनेता योगेश अग्रवाल, डायरेक्टर अनुपम वर्मा, संतोष जैन, सतीश जैन, मनोज वर्मा, प्रकाश अवस्थी, पुष्पेंद्र सिंह, डा. अजय सहाय, अनुमोद राजवैद्य, संजय मैथिल, अनिरुद्ध दुबे, राजेश मिश्रा, राजू शर्मा, देवेंद्र पांडे, पल्लवी शिल्पी, मुकेश मिश्रा ने विचार रखे।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close