रायपुर। Demand For Frontline Worker: छत्तीसगढ़ में सभी कार्यरत गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को फ्रटंलाइन वर्कर की सूची में शामिल करने की मांग ने जोर पकड़ लिया है। समाज सेवी संस्था छत्तीसगढ़ शबरी सेवा संस्थान के प्रदेश सचिव सुरेंद्र साहू ने बताया कि कोरोना संकटकाल में प्रदेश के सभी गैर सरकारी संगठन लगातार मनावता का सेवा का कार्य करते आ रहे है।

लोगों को साबुन, सैनिटाइजर, मास्क, भोजन व्यवस्था कराने में सभी एकजुट है और सरकार के साथ मंशा अनुरूप मिलकर काम कर रहे है। गैर सरकारी संगठन से जुड़े लोग अपनी जान को जोखिम में डाल कर सेवा कर रहे हैं। ऐसे में छत्तीसगढ़ में गैर सरकारी संगठनों को फ्रटंलाईन वर्कर का दर्जा दिया जाना चाहिए। पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को फ्रटंलाईन वर्कर घोषित कर सरकार टीकाकरण के लिए आदेश जारी करें।

Posted By: Azmat Ali

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags