रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। हज यात्रा पर मक्का-मदीना जाने, छत्तीसगढ़ के यात्रियों के लिए नागपुर इम्बारकेशन पाइंट बनाया गया है। इस वजह से छत्तीसगढ़ के अलग-अलग शहरों से यात्रियों को नागपुर जाकर औपचारिकताएं पूरी करनी पड़ती हैं। हज यात्रा आसान हो, इसके लिए नागपुर के बजाय रायपुर में ही इम्बारकेशन पाइंट बनाया जाना चाहिए, ताकि बस्तर, सरगुजा जैसे दूरदराज इलाकों के यात्री रायपुर आकर यात्रा कर सकें।

यह मांग छत्तीसगढ़ राज्य हज कमेटी के अध्यक्ष मोहम्मद असलम खान ने नई दिल्ली में राज्यसभा सदस्य और छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया से की। हज कमेटी अध्यक्ष ने हज 2020 पर जाने के लिए राज्य हज कमेटी की व्यवस्था की जानकारी दी। साथ ही राज्य हज हाउस के निर्माण के लिए केंद्र की लंबित राशि जारी करने की भी मांग की।

हज कमेटी अध्यक्ष ने राज्यसभा सदस्य श्रीपुनिया को अवगत कराया कि राज्य सरकार ने हज हाउस के निर्माण के लिए एयरपोर्ट के समीप तीन एकड़ भूमि उपलब्ध करा दी है। हज हाउस का निर्माण केंद्र एवं राज्य सरकार के संयुक्त अंशदान से होना है। केंद्रीय हज कमेटी ने राज्य के प्रस्ताव को उचित मानते हुए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय नई दिल्ली को पांच करोड़ रुपये देने का प्रस्ताव भेजा है। चर्चा के दौरान वर्ष 2016-17 से राज्य मदरसा बोर्ड के लंबित अंशदान की बात भी रखी। लंबित राशि 26 करोड़ विमुक्त किए जाने निवेदन किया। श्री पुनिया ने हज कमेटी अध्यक्ष को मांगों पर गौर करने का आश्वासन दिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना