रायपुर। 26/11 का हमला हर व्यक्ति के जेहन में है। आतंकी हमले की गवाह बनी देविका रोटावन एक कार्यक्रम में शामिल होने रविवार को पहुंचीं थीं। हमले के वक्त वे 9 साल की थीं। नईदुनिया से बातचीत में उन्होंने बताया कि 26 नवंबर के आतंकी हमले की गवाह तो वह बन गई, लेकिन पूरे परिवार, रिश्तेदारों ने हमारा साथ छोड़ दिया।

एक ओर समाज के लोग देशभक्ति की बात करते हैं लेकिन जब आतंकी हमले के विरोध की बात आई तो हमारा समर्थन के बजाय साथ ही छोड़ दिए। यहां तक की रायपुर शहर में रहने वाले नाना-नानी ने भी बातचीत बंद कर दी। कभी हाल- चाल तक नहीं पूछा। वजह स्पष्ट थी कि लोगों को डर था, कि उनको भी आतंकियों की धमकी न मिले। उस समय मैं छोटी थी तो समझ नहीं आता था। आज 10वीं कक्षा में पढ़ रही हूं और समाज के उस डर को रोजाना देखती हूं। मुंबई में हमसे लोग बात करने में घबराते हैं।

हमले के कारण पिता का कारोबार हुआ बंद

देविका ने बताया कि बांद्रा में पिताजी नटवरलाल का काजू- किशमिश का कारोबार था। हमले के बाद जब पिताजी ने दुकान खोली तो लोगों ने खरीददारी ही बंद कर दी। आस-पास के दुकानदारों ने हमसे बात करना बंद कर दिया। हमारे पिता ने हार नहीं मानी और मुझे गवाही के लिए हर बार कोर्ट ले जाते। आज सात साल हो चुके हैं, 500 बार गवाही दे चुकी। अब तक करीब हजार बार धमकियां मिल चुकी हैं, लेकिन हम आज भी अपने फैसले पर अटल हैं। पुलिस समय-समय पर प्रोटेक्शन देती रहती है।

भूल नहीं सकती कसाब का चेहरा

देविका ने बताया कि आतंकी हमले के वक्त कसाब ने जब मेरे पैर में गोली मारी थी, तब मैंने उसका चेहरा देखा था। थोड़ी दूर पर पिताजी और भाई गिरे हुए थे। गोलियों की तेज आवाज आ रही थी। मेरे पैर ने काम करना बंद कर दिया था। मैं उस कसाब का चेहरा नहीं भूल सकती। मेरे पैर का छह बार ऑपरेशन हो चुका है।

किया गया सम्मान

कार्यक्रम में फ्लैग फाउंडेशन ऑफ इंडिया के संस्थापक नवीन जिंदल ने देविका का सम्मान किया। उन्होंने कहा कि देश में ऐसी भी बेटी है, जो किसी से डरती नहीं। ये हमारे लिए गर्व की बात है। इस मौके पर तिरंगा-वंदन मंच के संयोजक मुकेश शाह और अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020