मृगेंद्र पांडेय। रायपुर। Chhattisgarh Political News: चुनावी वर्ष में छत्तीसगढ़ में एक बार फिर डर्टी पालिटिक्स शुरू हो चुकी है। ईडी राज्य के कांग्रेस नेताओं और अधिकारियों के भ्रष्टाचार की जांच कर रही है। ईडी के कसते शिकंजे के बीच नेता प्रतिपक्ष व भाजपा विधायक नारायण चंदेल के बेटे पर दुष्कर्म का आरोप लग गया है। प्रकरण जांजगीर चांपा जिले का है, लेकिन उन पर केस राजधानी के महिला थाने में दर्ज कराया गया। प्रकरण की जांच पुलिस कर रही है। इससे पहले भानुप्रतापपुर विधानसभा उपचुनाव के दौरान भाजपा प्रत्याशी ब्रम्हानंद पर भी दुष्कर्म का आरोप लगा था, हालांकि उनकी गिरफ्तारी पर झारखंड हाई कोर्ट ने रोक लगा रखी है।

ईडी का जवाब भाजपा नेताओं पर दुष्कर्म के आरोप से

नेता प्रतिपक्ष के बेटे पर आरोप लगने के बाद कांग्रेस हमलावर है। शनिवार को कांग्रेस ने पूरे प्रदेश में नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल का पुतला दहन किया। कांग्रेस उन्‍नाव से कठुआ तक के प्रकरण गिना रही है, जबकि भाजपा कांग्रेस को भ्रष्टाचार के मुद्दे पर घेर रही है। पिछले चुनाव में भी भाजपा सरकार के मंत्री राजेश मूणत की एक कथित सीडी सामने आई थी, जिससे चुनावी फिजां बदल गई थी। हालांकि सीडी की प्रमाणिकता को कोर्ट में चुनौती दी गई है और प्रकरण विचाराधीन है।

प्रदेश में नवंबर-दिसंबर में विधानसभा चुनाव होना है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि भाजपा का चरित्र ही बलात्कारियों के साथ खड़ा होना है। भाजपा नेता बलात्कारियों को हार की माला पहनाते हैं। उनको महिमामंडित करते हैं, तिलक लगाते हैं, बचाने के लिए सड़कों पर झंडा लेकर प्रदर्शन करते हैं। दिल्ली में देश की नामचीन महिला पहलवान भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

मोदी सरकार में मंत्री रहे शाहनवाज हुसैन के खिलाफ अभी न्यायालय के आदेश पर 2018 के एक प्रकरण में दुराचार के मामले में एफआईआर दर्ज हुई है। डा रमन सिंह के मुख्यमंत्री रहते हुए उनके ओएसडी ओपी गुप्ता पर दुराचार का आरोप लगा और चार साल तक एफआइआर दर्ज नहीं की गई। मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा है कि नेता प्रतिपक्ष को अपने पुत्र को सरेंडर कराना चाहिए। भाजपा महिलाओं का कितना सम्मान करती है वह इस कृत्य से झलक रहा है।

भाजपा नेताओं ने साधी चुप्पी

नारायण चंदेल के बेटे पर एफआइआर दर्ज होने के बाद भाजपा बैकफुट पर है। भाजपा के किसी भी बड़े नेता ने इस मामले में बयान नहीं दिया। भाजपा के मुख्य प्रवक्ता अजय चंद्राकर से जब यह सवाल किया गया तो उन्‍होंने कहा कि हमें कोर्ट पर पूरा भरोसा है। हम अपना पक्ष न्यायालय में रखेंगे। नारायण चंदेल ने भी चुप्पी साध रखी है। इससे पहले ब्रम्हानंद के मामले में पूरी भाजपा ने एकजुट होकर विरोध दर्ज कराया था। भानुप्रतापपुर के चुनाव प्रभारी बृजमोहन अग्रवाल और वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने ब्रम्हानंद को गिरफ्तार करने पहुंची झारखंड पुलिस का न सिर्फ विरोध किया, बल्कि ब्रम्हानंद को साथ लेकर पूरे समय चुनाव प्रचार भी किया था।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close