Disabled Voter: जिले का मतदाता बनने में दिव्यांग और थर्ड जेंडर रुचि नहीं दिखा रहे हैं। समाज कल्याण विभाग के रिकार्ड के अनुसार जिले में 18,091 दिव्यांग मतदाता दर्ज हैं, लेकिन निर्वाचन आयोग के रिकार्ड में अब तक सिर्फ 10,970 मतदाता ही हैं। कुछ इसी तरह का हाल थर्ड जेंडर का भी है। जहां जिले में 4000 के आसपास थर्ड जेंडर हैं, लेकिन निर्वाचन आयोग के रिकार्ड में सिर्फ 297 मतदादा ही हैं। आठ हजार दिव्यांग और तीन हजार सात सौ से ज्यादा थर्ड जेंडर गायब हैं। इनकी तलाश समाज कल्याण विभाग और जिला निर्वाचन की टीम करेगी।

जिले में नए मतदाता नाम जुड़वाने में रुचि नहीं ले रहे हैं। अब तक 12 हजार 376 लोगों ने नाम जुड़वाया है। इनमें से छह हजार से ज्यादा सुधार कराने वालों की है। पिछली बार 23,000 हजार नाम जोड़े गए थे। मतदाता सूची के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत दावा-आपत्ति देने के लिए अंतिम तिथि आठ दिसंबर निर्धारित की गई है। नए मतदाताओं के लिए प्रारूप-6 में आवेदन किया जाना है।

इस तरह कर सकते हैं आवेदन

जिले में फोटोयुक्त मतदाता सूची का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण का कार्य चल रहा है। मतदाता सूची में नाम जोड़ने, काटने और त्रुटि सुधार के लिए अपने मतदान केंद्र में नियुक्त अधिकारी के पास आवेदन कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त बीएलओ के माध्यम से निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी कार्यालय में या आनलाइन या वोटर हेल्पलाइन मोबाइल एप के माध्यम से भी आवश्यक कार्यवाही पूर्ण कर सकते हैं।

जिले के आवेदकों के आंकड़े

अब तक जिले की आठ विधानसभाओं में 5 हजार 59 पुरुष तथा 4 हजार 352 महिलाओं ने आवेदन किया है। वर्तमान मतदाता सूची में नाम को जोड़ने या हटाने के लिए मतदाता को प्रारूप-7 में आवेदन करना है। इसके तहत अब तक 1 हजार 77 पुरुष तथा 946 महिलाओं ने आवेदन किया है। ईपीआइसी प्रतिस्थापन, दिव्यांगजन चिंहाकित करने संबंधी एंट्री का सुधार और निवास स्थानांतरण के लिए प्रारूप-8 में आवेदन करना है। इसके लिए अब तक 533 पुरुष और 409 महिलाओं ने आवेदन किया है। इस तरह कुल 12 हजार 376 लोगों ने आवेदन दिए हैं।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close