धमतरी। Chhattishgarh News: वन अधिकार पट्टा के लिए 26 सालों से शासकीय दफ्तरों का चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन अब तक पट्टा नहीं मिला। पीड़ित ग्रामीण कलेक्ट्रेट पहुंचकर पट्टा दिलाने की मांग शासन से की है।

जिला पंचायत सदस्य खूबलाल ध्रुव की अगुवाई में ग्राम माकरदोना के ग्रामीण एक दिसंबर को कलेक्ट्रेट पहुंचे। ग्रामीण बसंत नेताम, रमेश कुंजाम,इंदल नेताम, बालसिंह, राजेंद्र मंडावी, रामधीन, महादेव, शत्रुघन, साधुराम, राजा राम, दीनू राम, कुंजू राम आदि ने कलेक्टर के नाम सौंपे ज्ञापन में बताया है कि पिछले 26 सालों से माकरदोना के जमीन पर कब्जा कर खेती कर रहे हैं। इसी जमीन से उनके परिवार की रोजी रोटी चल रहा है। वह कब्जा करने के बाद से लगातार शासन से वन अधिकार पट्टा दिलाने की मांग कर रहे हैं। पट्टा की मांग को लेकर शासकीय दफ्तरों का चक्कर काटते चप्पल घिस गया, लेकिन अब तक शासन से उन्हें पट्टा नहीं मिल पाया है। वन अधिकार पट्टा के अभाव में पीड़ित ग्रामीणों को शासकीय योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता है। वे सोसायटी ओं में उत्पादित धान को बेच नहीं पाते हैं न तो उन्हें खेती किसानी करने के लिए ऋण मिलता है। उन्हें खाद भी नहीं मिल पाता। महंगे दामों पर खुले मार्केट से खाद खरीदने मजबूर है। राज्य शासन ने वन अधिकार पट्टा देने की घोषणा की थी, लेकिन अब तक इन ग्रामीणों को नहीं मिल पाया है। ग्रामीणों ने शासन से शीघ्र ही वन अधिकार पट्टा दिलाने की मांग की है, ताकि उनके जीवन स्तर में सुधार हो सके।

Posted By: kunal.mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस