रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

भारतीय सिनेमा और नाट्य जगत का मशहूर नाम- अशोक मिश्रा। रविवार को खुद के लिखे 'रास बिहारी' नाटक का मंचन देखने मुंबई से रायपुर पहुंचे। अशोक मिश्रा नाटक और फिल्म लेखन की दुनिया में वह नाम, जो 10 से अधिक फीचर फिल्म लिख चुके हैं, जिसमें वेलकम टू सजनपुर, वेलडन अब्बा बवंडर, आदि फिल्में काफी चर्चित रहीं। फिल्म 'नसीम' और 'समर' के लिए दो बार सर्वश्रेष्ठ पटकथा लेखन का राष्ट्रीय पुरस्कार मिल चुका है। साथ ही बेस्ट स्क्रीन के लिए नेशलन अवार्ड व बेस्ट डॉयलॉग के लिए स्टार स्क्रिन अवार्ड भी मिल चुका है। अशोक मिश्रा को 'भारत एक खोज' धारावाहिक ने मशहूर किया। नईदुनिया से खास बातचीत में उन्होंने बताया- पहले मैं पत्रकारिता के साथ व्यंग्य लेखन करता था, लेकिन व्यंग्य को किसी भी अखबार में जगह मिलने के लिए 15 दिन से एक महीने लग जाते थे। इतना ही नहीं, जब व्यंग्य संपादक के खेद के साथ वापस मिल जाता था तो बहुत दुख होता था। इसी दौरान हबीब तनवीर के नाटक चरण दास चोर देखने का अवसर मिला। इसके बाद मेले मन में थिएटर और नाटक के प्रति जज्बा जगा और मैंने एनएसडी का फॉर्म डाला और सलेक्ट भी हुआ। यहां से मेरी दुनिया ही बदल गई। मैंने पढ़ाई के दौरान ही बजे ढिंढोरा उर्फ खून का रंग नाटक लिखा, जिसे लोगों ने काफी पसंद किया। बाद में मैंने गांधी चौक, नूर महल, अटके-भटके सुर, रासबिहारी, कचरे की हिफाजत आदि नाटक लिखे, जिन्हें लोगों ने खूब सराहा।

भारत एक खोज से मिली टेलीविजन की दुनिया में इंट्री

अशोक मिश्रा ने बताया कि टेलीविजन की दुनिया में भारत एक खोज जैसे धारावाहिक के डॉयलॉल लेखन से हुआ, जिसमें मैंने लगभग 50 एपीसोड के लिए डॉयलॉग लिखे। यहां से कई फिल्म निर्माताओं और डायरेक्टर से पहचान हुई। इसके साथ ही मैं फिल्म लेखन भी करता रहा। मैंने अपनी फिल्म डायरेक्टर को दिखाई तो वह उन्हें काफी पसंद आई और उस पर फिल्म बनाया। उन्होंने बताया कि अभी मेरी लिखी हुई तीन फिल्में पाइप लाइन में हैं। बहुत जल्द ही लोगों के समक्ष होंगी।

विरासत में मिली लेखन की कला

अशोक शर्मा बताते हैं कि किसी को विरासत में जायदाद तो किसी को धन मिलता है, लेकिन मुझे तो विरासत में लिखने की कला मिली। मेरे यहां मेरे बड़े भाई और भाभी साहित्यकार हैं। इसके चलते शुरू से ही लिखने का माहौल मिला और शौक भी जगा। इसके चलते आज मैं इतना मशहूर हुआ हूं।

दो वेब सीरीज लेखन कार्य प्रोग्रेस में

उन्होंने बताया कि जमाने के साथ लोगों को बदलना चाहिए। अभी वेब सीरीज बहुत चलन में है। लोग इसे ज्यादा पसंद भी कर रहे हैं। इसी के मद्देनजर दो वेब सीरीज का लेखन कार्य शुरू है जो बहुत जल्द ही फिल्माया जाएगा।