वाकेश साहू. रायपुर (नईदुनिया)। मन में कुछ करने का इरादा हो तो किसी भी लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं। शरीर की दिव्यांगता भी उनके हौसलों के आगे झुक जाती है। कुछ नया करने का जज्बा हो तो असंभव कार्य भी संभव हो सकता है। सफलता पाने के लिए जरूर संघर्षों से जूझना ही पड़ता है। कुछ इस तरह की कहानी है छत्तीसगढ़ के पर्वतारोही चित्रसेन साहू की। चित्रसेन को आज छत्‍तीसगढ़ ही नहीं बल्कि देश में किसी भी परिचय की जरूरत नहीं है। चित्रसेन का कहना है कि लक्ष्य और हौसला है तो दिव्यांगता कभी अड़े नहीं आएगी।

चित्रसेन का सपना है कि वे सात महाद्वीप के साथ शिखर फतह करें। फिलहाल चित्रसेन अभी तीन महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी को फतह कर चुके हैं। चित्रसेन पर्वतों में तिरंगा फहराकर देश-दुनिया को प्लास्टिक फ्री बनाने और दिव्यांगों को अपने पैरों पर खड़ा होने का संदेश दे रहे हैं। बता दें कि चित्रसेन साहू छत्‍तीसगढ़ के ब्लेड रनर, 'हाफ ह्यूमन रोबो' के नाम से जाने जाते हैं।

ट्रेन हादसे में खो चुके हैं दोनों पैर

चित्रसेन मूलत: छत्‍तीसगढ़ के बालोद जिले के रहने वाले हैं। वे अभी शासकीय नौकरी में है। चित्रसेन ने बताया कि 4 जून 2014 को बिलासपुर से अपने घर बालोद जाने के लिए ट्रेन पकड़ी थी। भाटापारा स्टेशन में पानी लेने के लिए स्टेशन में उतरे। इसी वक्त ट्रेन का हार्न बजते ही चढ़ने के लिए दौड़ लगा दी, लेकिन पैर फिसलकर ट्रेन के बीच फंस गया। घटना के अगले ही दिन एक पैर काट दिया गया। फिर 24 दिन बाद इंफेक्शन के कारण दूसरा पैर भी काटना पड़ा। उनका कहना है कि यह जिंदगी का सबसे बुरा दौर था।

कृत्रिम पैर होने के कारण कठिनाई

चित्रसेन साहू ने माउंट किलिमंजारो, माउंट कोजीअस्को और माउंट एलब्रुस फतह कर रिकार्ड कायम किया है। चित्रसेन ने यह उपलब्धि हासिल करने वाले देश के प्रथम डबल एंप्यूटी है। चित्रसेन साहू ने बताया कि दोनों पैर कृत्रिम होने की वजह से पर्वतारोहण में बहुत कठिनाइयां आती है और यह अपने आप में बहुत बड़ी चुनौती है, जिसे उन्होंने स्वीकार किया है।

अब तक मिशन

स्थान : यूरोप महाद्वीप

देश : रूस

पर्वत : माउंट एलब्रुस

ऊंचाई : 5642 मीटर (18510 फीट)

स्थान : अफ्रीका महाद्वीप

देश : तंजनिया

पर्वत : माउंट किलिमंजारो

ऊंचाई : 5,895 मीटर (19,341 फीट)

स्थान : आस्ट्रेलिया महाद्वीप

देश : आस्ट्रेलिया

पर्वत : माउंट कोजिअसको

ऊंचाई : 2,228 मीटर (7,310 फीट)

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local