रायपुर/कांकेर।Chhattisgarh News: कोरोना की वजह से भारत की आर्थिक, संस्कृति और पारंपरिक गतिविधियों पर ग्रहण लग चुका है। पिछले साल से कोरोना के कारण देश के सभी त्यौहार भी बेरंग रहे हैं और इसका असर अभी भी दिख रहा है। वहीं मकर संक्रांति के उपलक्ष्य में 14 जनवरी को प्रति वर्ष होने वाले कांकेर जिले का सबसे प्रसिद्ध और बड़ा मेला नहीं लगेगा। वर्ष 1964 से शुरू हुए पखांजूर नरनारायण सेवा आश्रम की ओर से मेले का संचालन किया जाता है। इस साल कोरोना ने इस मेला पर ग्रहण लगा दिया है। सन 1964 से शुरू हुए मेले लगातार 57 वर्षों हो रहे मेला इस वर्ष नहीं लगेगा। ज्ञात हो कि पखांजूर के इस ऐतिहासिक मेला में करोड़ों रुपये का व्यापार होता है। पूरे परलकोट के लोगों के द्वारा बड़े ही उत्सव के साथ अपने पूरे परिवार के साथ मेला का भरपूर आनंद और खरीदी करते है।

मेले में छत्तीसगढ़ के बड़े बड़े झूले, डांस पार्टी, मोटरसाइकिल का सर्कस, प्रसिद्ध भेलपुरी और रंग-रंग के मिष्ठान वैसे परलकोट मिठाई के नाम से पहले ही प्रसिद्ध हैं। पर इस बार कोरोना के वजह से पूरा मेला स्थल खाली वीरान पड़ा है। इस साल मेला नहीं लगाने से व्यापारी में बड़ी उदसीनता देखी जा रहे। बड़ी दूर से व्यापार करने आते हैं दुकानदार। नेपाल से गर्म कपड़े का व्यापारी करने आते हैं। कई व्यापारियों तो कर्जा लेकर सामान खरीदी कर दुकान लगते हैं। मेले ने व्यापारियों की कमर तोड़ दी है। मेले को ले कर युवाओं में बड़ा ही जोश उत्सव रहता है।

अन्य राज्यों से भी आते हैं लोग

पखांजूर मेले में इतनी भीड़ होती है कि पूरे परलकोट के साथ आसपास के राज्य महाराष्ट्र, ओडिशा, मध्यप्रदेश, आंध्रप्रदेश, कलकत्ता के लोग भी पूरे परिवार अपने मित्रों के साथ आते हैं। नरनारायण सेवा आश्रम के महाराज से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस साल कोरोना के वजह से मेला नहीं लगाने का आदेश शासन-प्रशासन से दिया गया है। शासन की गाइडलाइंस के अनुसार पूजा-अर्चना की तैयारी भक्तों की ओर से की जाएगी।

Posted By: Ravindra Thengdi

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस