रायपुर (नईदुनिया, राज्य ब्यूरो)। E-sign Facility in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग नेटवर्क एंड सिस्टम (सीसीटीएनएस) में थानों में दर्ज किए जाने वाली प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआइआर) और विवेचना में अब ई- साइन की सुविधा शुरू कर दी गई है। स्पेशल डीजी आरके विज ने बताया कि राज्य में जल्द ही ई-साइन की सुविधा थाना स्तर पर भी शुरू कर दी जाएगी। अफसरों ने बताया कि योजना के तहत राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) ने शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से देश के सभी राज्यों की बैठक आयोजित की। इसमें एनसीआरबी ने सी-डेक के माध्यम से तैयार किये गए ई-हस्ताक्षर (ई-साइन) का प्रदर्शन किया।

ई-हस्ताक्षर के माध्यम से सीसीटीएनएस के तहत थानों में आनलाईन एफआइआर और विवेचना संबंधित समस्त फार्मो में डिजीटल हस्ताक्षर संबंधित विवेचक और थाना प्रभारी द्वारा किया जा सकेगा। यह कि वैधानिक रूप से मान्य और न्यायालय में भी स्वीकार किया जाएगा। ई-हस्ताक्षर का उपयोग सीसीटीएनएस के नए वर्जन केस 5.0 के तहत उपयोग किया जा सकेगा। बता दें कि सीसीटीएनएस के नवीन वर्जन केस 5.0 को सफलतार्पूवक लागू करने वाला पूरे देश में एक मात्र छत्तीसगढ़ राज्य है।

इस कार्य के लिए एनसीआरबी ज्वाईन डायेक्टर संजय माथुर ने छत्तीसगढ़ की प्रशंसा करते हुए नोडल अधिकारी और स्पेशल डीजी विज को बधाई दी गई। विज ने बताया कि राज्य जल्द ही ई-हस्ताक्षर को थाना स्तर पर क्रियांवित कर लेगा, जिससे आम नागरिकों को थानों के दस्तावेज ई-हस्ताक्षर युक्त प्रमाणित डिजीटल फार्म में प्रदाय किया जा सकेगा। साथ ही न्यायालय में भी ई-हस्ताक्षर युक्त प्रमाणित दस्तावेज पेश किया जा सकेगा। बैठक में एआइजी मनीष शर्मा, अपर संचालक वित्त धर्मेन्द्र कुमार, सीसीटीएनएस प्रभारी एसएन सिंह, बीएल चंद्राकर, सत्यप्रकाश उपाध्याय, भुवनेश्वरी साहू, प्रोजेक्ट मैनेजर टीसीएस आनंद कराम्बे व टीम के अन्य सदस्य शामिल थे।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local