संदीप तिवारी। रायपुर। Educational News : छत्तीसगढ़ में पहली बार अंग्रेजी में बच्चों की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए एक अलग से सेल गठित किया जाएगा। सेल में शिक्षा विभाग से एक ज्वाइंटर डायरेक्टर, दो डिप्टी डायरेक्टर और दो असिस्टेंट डायरेक्टरों की नियुक्ति होगी।

प्रतिनियुक्ति पर इनकी नियुक्ति के लिए राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) ने विज्ञापन जारी कर दिया है। इसी के साथ नए सत्र 2020-21 में प्रदेश में 118 नए अंग्रेजी माध्यम स्कूल अस्तित्व में आ जाएंगे।

इसके चलते प्रदेश में करीब एक लाख पांच हजार बच्चों को अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में पढ़ने का मौका मिला है। अभी वर्तमान में प्रदेश में 54 स्कूल चल रहे हैं। इनमें 28 हजार बच्चों का दाखिला हुआ है। वर्तमान शैक्षणिक सत्र से अंग्रेजी स्कूलों में दाखिला लेने वाले बच्चों और उनके अभिभावकों चेहरों पर मुस्कान है।

अब उनकी आर्थिक मजबूरियां शिक्षा में अवरोध नहीं बनेगी, यह आत्मविश्वास और सुकून उन्हें है। इन स्कूलों की गुणवत्ता और उपलब्ध सुविधाओं की वजह से निम्न आय वर्ग के साथ ही चिकित्सक, शासकीय सेवाओं में संलग्न अधिकारी-कर्मचारी, शिक्षक, व्यवसायी सभी अपने बच्चों का भविष्य संवारने को इन स्कूलों में दाखिला करवा रहे हैं।

गुणवत्ता की होगी निगरानी

अधिकारियों के मुताबिक अंग्रेजी माध्यम स्कूल की गुणवत्ता की निगरानी एससीईआरटी के प्राध्यापक करेंगे। इसी के साथ गठित सेल के माध्यम से लगातार अंग्रेजी को लेकर अनुसंधान किया जाएगा और जो भी कमियां होंगी उसे पूरा किया जाएगा।

अभी रायपुर में इतने स्कूल संचालित

ये सभी स्कूल स्वामी आत्मानंद स्कूल स्कूल योजना के नाम से संचालित होंगे। रायपुर में अभी तक तीन अंग्रेजी माध्यम स्कूल चल रहे हैं। इनमें शहीद स्मारक स्कूल, पंडित आरडी तिवारी स्कूल, बीपी पुजारी हायर सेकेंडरी स्कूल शामिल है। इनमें 1600 बच्चों ने दाखिला लिया है।

अंग्रेजी माध्यम स्कूल में बदलेंगे ये स्कूल

शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल माना कैंप

शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल कुंरा

शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल अभनपुर

शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल आरंग

नगर माता बिन्न्ी बाई सोनकर उमावि रायपुर

स्कूलों में मिलेगी ये सुविधाएं

प्रथम चरण में राज्य में जो अंग्रेजी माध्यम स्कूल शुरू किए गए हैं। इन अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों में अध्ययन-अध्यापन की सुविधा का विशेष ध्यान रखा गया है। इन स्कूलों में अत्याधुनिक लाइब्रेरी एवं लैब, कंप्यूटर और साइंस लैब के साथ ही आनलाइन शिक्षा की भी पूरी सुविधा उपलब्ध है। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा इन स्कूलों को विकसित करने के लिए 130 करोड़ स्र्पये प्रदान किए गए हैं।

Posted By: Kadir Khan

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags