रायपुर। Crime News: नवा रायपुर में नकली नोटों की छपाई करने वाले बिजली विभाग के इंजीनियर समेत तीन लोगों को ओडिशा की कोरापुट पुलिस ने गिरफ्तार किया है। तीनों आरोपितों से सात करोड़ 90 लाख के नकली नोट बरामद किए गए हैं। पुलिस की पूछताछ में तीनों ने बताया कि वे मूल रूप छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले के रहने वाले हैं। तीनों आरकेएम पॉवर प्लांट में कार्यरत हैं। उनमें से एक इंजीनियर है। मुख्य आरोपित इंजीनियर ने नवा रायपुर में किराये का मकान लेकर नकली नोटों की छपाई की थी।

इस बावत ओडिशा पुलिस ने छत्तीसगढ़ पुलिस ने संपर्क किया है। इसके बाद प्रदेश की पुलिस हरकत में तो आई, मगर रायपुर पुलिस के आला अधिकारी जांच के बाद ही कुछ कहने की बात कह रहे हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, एसपी जांजगीर-चापा पारुल माथुर ने इस मामले को लेकर ओडिशा के कोरापुट एसपी से बात की है। नकली नोट के साथ पकड़े गए तीन आरोपितों में से रविन्द्र मनहर जांजगीर-चांपा केडभरा क्षेत्र के आरकेएम पॉवर प्लांट में इंजीनियर है।

वहीं, दो अन्य आरोपित विजय बर्मन और मनहरण जानहर भी इसी प्लांट में कार्यरत हैं। मुख्य आरोपित इंजीनियर रविन्द्र मनहर पिछले कुछ दिनों से नवा रायपुर में रह रहा था और किराये के मकान में ही बरामद किए गए सात करोड़ 90 लाख के नकली नोटों की छपाई की थी। एसपी पारुल माथुर ने बताया कि तीनों आरोपितों के बारे में जांच की जा रही है। उन्होंने ओडिशा पुलिस के रायपुर पहुंचकर जांच करने की बात भी कही है। इस मामले की जांच खुफिया विभाग ने भी शुरू कर दी है।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags