रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

तीन साल तक लगातार राज्य पात्रता परीक्षा (सेट) लेने के बाद छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) को एक बार फिर परीक्षा कराने के लिए केंद्र से अनुमति लेनी पड़ेगी। व्यापमं को इसके पहले यूजीसी (युनिवर्सिटी ग्रांट कमिशन) से अनुमति मिली थी। यूजीसी ने व्यापमं को सिर्फ तीन साल के लिए ही राज्य पात्रता परीक्षा (सेट) कराने की अनुमति दी थी। वहीं टीईटी यानी स्कूलों के लिए शिक्षक पात्रता परीक्षा कराने की तैयारी है । टीईटी प्राइमरी और मिडिल कक्षाओं के लिए दो स्तर के लिए होगी। इस परीक्षा में पास होने के बाद अभ्यर्थी शिक्षक बनने की पात्रता प्राप्त कर लेगा। व्यापमं के अध्यक्ष डा. आलोक शुक्ला का कहना है कि सामान्यतः प्रक्रिया के तहत अनुमति लेनी होती है, यह एक रूटीन प्रक्रिया है, अब फिर अनुमति लेंगे तो आने वाले समय में परीक्षाएं हो सकेंगी।

साल 2016 में मिली थी पहले अनुमति

व्यापमं को पहली बार सेट कराने के लिए यूजीजी ने 15 सितंबर 2016 से 15 सितंबर 2019 तक की अनुमति दी थी। यह अवधि खत्म हो गई है। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ लोकसेवा आयोग (सीजीपीएससी) के जरिए कालेज और युनिवर्सिटी में सहायक प्राध्यापकों की भर्ती के लिए पीएचडी, नेट, स्लेट या सेट की अनिवार्यता होती है। पीजी और एमफिल डिग्रीधारियों को सेट पास होने के बाद बेहतर अवसर मिल जाता है। राज्य में फिलहाल 1384 असिस्टेंट प्रोफेसरों की भर्ती के लिए प्रक्रिया चल रही है।

इतने विषयों में लगातार तीन बार ली परीक्षा

व्यापमं ने पिछले तीन साल में लगातार तीन बार सेट की परीक्षा ली। व्यापमं ने करीब 19 विषयों में परीक्षा ली थी। इनमें प्रमुख रूप से हिंदी, अंग्रेजी, राजनीति विज्ञान, अर्थशास्त्र, समाजशास्त्र, इतिहास, भूगोल, गणित, रसायन, लाइफ साइंस, कंप्यूटर विज्ञान एवं एप्लीकेशन, वाणिज्य, विधि, संस्कृत, मनोविज्ञान, पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान, शारीरिक शिक्षा शामिल हैं।

-----------------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस