रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

इस दुनिया में यदि सबसे बड़ा धर्म है तो वह है मानवता । मानवता के लिए कार्य करने वाले कभी भी किसी जाति या धर्म को नहीं देखते, बल्कि निस्स्वार्थ भाव से हर मनुष्य की सेवा करने को ही अपना धर्म समझते हैं। मानवता का संदेश पहुंचाने के लिए राजधानी की जनकल्याणकारी सामाजिक संस्था, अवाम-ए-हिंद सोशल वेलफेयर कमेटी इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए लगातार निर्धनों को भोजन उपलब्ध कराने की सेवा दे रही है। कोरोना महामारी में लगे लाकडाउन के समय से शुरू हुआ सेवा का अब तक सिलसिला जारी है। संस्था के सदस्य मिलजुलकर सुबह निर्धनों को नाश्ता, भोजन कराने में जुट जाते हैं। यह ऐसी संस्था है जिसमें सभी जाति-धर्म के लोग शामिल हैं।

जरूरत की सामग्री भी दे रहे

राजधानी और उसके आसपास मुफलिसी की जिंदगी जीने वाले जरूरतमंद वृद्धों, महिलाओं, बच्चों, असहाय लोगों, दिव्यांगों, मरीजों को पौष्टिक आहार के साथ तेल, साबुन, सैनिटाइजर का वितरण संस्था के द्वारा किया जा रहा है। संस्था के सदस्य गत कई महीने से मानवीय संवेदनाओं के मद्देनजर निर्धनों की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए बिना किसी शासकीय अनुदान के अपने दायित्वों का निर्वाह करते हुए समाज के कमजोर एवं निम्न तबके के लोगों को कपड़े और भोजन वितरण करने में योगदान दे रहे हैं।

नशीले पदार्थों का सेवन न करने की सीख

संस्था के मोहम्मद सज्जााद खान ने बताया कि अवाम ए हिंद सोशल वेलफेयर कमेटी में हिंदू, मुस्लिम, सिख, जैन धर्म के लोग सदस्य हैं। वे सभी दिन में एक-दो घंटे सेवा देते हैं। भोजन वितरण के दौरान हिंसक प्रवृत्तियों से दूर रखने के लिए अनाथ बच्चों एवं जवानों को नशीले पदार्थों का सेवन न करने की सलाह दी जा रही है। साथ ही कोरोना महामारी से बचने के लिए मास्क पहनने और शारीरिक दूरी बनाए रखने के लिए जागरूक किया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस