रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

वर्तमान में किसानों का हाल कुछ ठीक नहीं है। आए दिन पूरे देश भर के किसान में किसान आत्महत्या करने पर मजबूर हो रहे हैं। इसका कारण है कि किसानों की फसल बर्बाद होना, किसानों द्वारा उगाई गई फसल को सही मूल्य नहीं मिल पाना। इससे किसान कर्ज में डूबता जाता है। किसानों को उबारने के लिए एनआइटी के तीन छात्रों ने स्मार्ट एग्रो वेबसाइट डिजाइन की। इसमें कम्प्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के प्रथम वर्ष के साहिल सेलारे, सिद्घार्थ मिश्रा और आर्यन सरकार ने बनाया है। इससे किसानों को उनकी फसल और उत्पाद का सही मूल्य मिल सकेगा। इसके माध्यम से किसान और खरीदार आमने-सामने होकर सौदा कर सकेंगे। इसमें बिचौलियों की कोई भूमिका नहीं रहेगी। साहिल सेलारे ने बताया कि यह वेबसाइट किसानों का हक मारने वाले बिचौलियों की छुट्टी करने के लिए डिजाइन की गई है। बिचौलिए किसानों के हक मार कर अपनी जेब गरम करते थे और किसान को सही मूल्य नहीं मिल पाता था। इस वेबसाइट के माध्यम से किसान अपने उत्पाद को सीधे बेच सकते हैं। इससे ग्राहक और किसान दोनों का फायदा होगा।

किसानों को समस्याओं से उबारने के लिए बनाई वेबसाइट

साहिल सेलारे ने बताया कि आए दिन देश में किसानों की आत्महत्या और किसानों की स्थिति के बारे में न्यूज पेपर में पढ़ने को मिलता था, जिससे लगा कि किसानों के लिए कोई उपाय करना चाहिए, जिससे उनकी स्थिति कुछ सुधर सके, इसलिए इस वेबसाइट का डिजाइन किया गया है। हालांकि अभी इस पर काम जारी है। इसमें और भी नए-नए फिजर एड किए जा रहे हैं। इससे किसानों को इस्तेमाल करने में आसानी होगी।

वेबसाइट के माध्यम से किसान कैसे बेच पाएंगे अपने उत्पाद

किसानों के लिए डिजाइन की गई वेबसाइट स्मार्ट एग्रो पर किसान अपनी उत्पाद को सीधे बेच पाएंगे। वेबसाइट डिजाइन साहिल ने बताया कि इस वेबसाइट पर किसान और ग्रहंकों के लिए है। इस वेबसाइट पर किसान अपना पंजीयन करवाएगा। जो बिल्कुल मुफ्त होगा। जहां किसान अपने उत्पाद की डिटेल अपलोड करेगा, जिसमें उत्पाद के बारे में पूरी जानकारी होगा, जिसे देख ग्राहक या थोक क्रेता दिए गए पता पर जाएगा और किसान किसान का उत्पाद खरीद सकेगा। इसमें बिचौलियों की कहीं भी भूमिका नहीं होगी। किसान को डायरेक्ट उनके उत्पाद का मूल्य मिल सकेगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket