रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

मेडिकल नशे के खिलाफ राजधानी पुलिस ने अभियान छेड़ कर रखा है। पुलिस ने अवैध नशे के सप्लायरों की कमर तोड़ दी है। पुलिस ने अवैध रूप से कफ सिरप की तस्करी करते मेडिकल एजेंसी के प्रोपाइटरों सहित पांच को गिरफ्तार किया। दो मेडिकल स्टोर संचालक, दो एमआर और एक ड्राइवर को पुलिस ने पकड़ा। आरोपियों के पास से 1800 शीशी कफ सिरप पकड़ाई है, जिसकी कीमत दो लाख 50 हजार रुपये आंकी गई। आरोपित रायपुर से जांजगीर कफ सिरप खपाने ले जा रहे थे, जिसे तेलघानी नाका क्षेत्र में नाकेबंदी कर तस्करों को पकड़ा गया। तरस्करों को गंज थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया।

कंट्रोल रूम में खुलासा करते हुए एडिशनल एसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने बताया कि राजधानी पुलिस ने मोहदापारा में बड़ी कार्रवाई की। इसके बाद छापामार कार्रवाई लगातार जारी है। गुरुवार को मुखबीर से सूचना प्राप्त हुई कि आर्टिका वाहन में कुछ व्यक्ति कफ सिरप भरकर रायपुर तेलघानी नाका की ओर जा रहे। मुखबिर की सूचना को गंभीरता से लेते हुए सीएसपी सिटी कोतवाली डीसी पटेल तत्काल एक टीम गठित कर आरोपितों की पतासाजी शुरू कर दी। गंज थाना प्रभारी आशीष शुक्ला के नेतृत्व में एक विशेष टीम ने तेलघानी नाका एवं उसके आसपास नाकेबंदी कर मुखबिर के द्वारा बताए गए वाहन की पतासाजी की। तेलघानी नाका की ओर आ रही अर्टिका वाहन को रोककर वाहन की तलाशी ली गई। जहां अवैध सिरप कार वाहन में रखी मिली। कफ सिरप के संबंध में आरोपित नितेश विरानी पिता स्व. सुंदर विरानी साकिन चांपा रहेसा बेड़ा ब्राह्मणपारा थाना चांपा जिला जांजगीर चांपा और मनोज नामदेव पिता देवराम नामदेव चांपा सिवनी बंगला चौक थाना चांपा जिला जांजगीर चांपा से उक्त सिरप के संबंध में वैध दस्तावेजों की मांग की गई परंतु आरोपितों द्वारा कफ सिरप के संबंध में किसी भी प्रकार का कोई वैध दस्तावेज या अन्य कागजात प्रस्तुत नहीं कर सके। जिन्हें पुलिस ने तत्काल गिरफ्तार कर अन्य की पूछताछ की। पूछताछ में आरोपी नितेश विरानी ने बताया कि वह जांजगीर चांपा में निवास कर पॉलीथीन ट्रेडिंग सप्लाई का काम करता है। उसने यह भी बताया कि वह कफ सिरप को भाटापारा जिला बलौदा बाजार निवासी अनिल कामनानी जिसका तेलघानी नाका रायपुर में प्रेम प्रकाश मेडिकल एजेंसी है से लेकर जांजगीर चांपा जा रहा था। टीम द्वारा अनिल कामनानी की पतासाजी कर पकड़कर पूछताछ करने पर उसने बताया कि उसने कफ सिरप के लिए धीरज माधवानी जो हिन्दकुश कंपनी का है एवं एरिया सेल्समेन का काम करता है। डुमरतराई स्थित अशोका सेल्स में भी कार्य करता से संपर्क कर मंगाया था। जिस पर टीम द्वारा धीरज माधवानी की पतासाजी किया। उसे भी गिरफ्तार किया गया। जिसने पूछताछ में बताया कि उक्त कफ सिरफ को उप्र के ईमर कंपनी से ट्रांसपोर्ट के जरिए मंगाया था। अनिल कामनानी, नितेश विरानी एवं डुमरतराई स्थित अशोका सेल्स के प्रोपाइटर अमित गुरूबक्षाणी को सप्लाई करना स्वीकार किया।

इनकी गिरफ्तारी

- नितेश विरानी, स्व. सुन्दर विरानी (37) साकिन चांपा रहेसा बेड़ा ब्राम्हणपारा थाना चांपा जिला जांजगीर चांपा

- मनोज नामदेव, देवराम नामदेव (32) चांपा सिवनी बंगला चैक थाना चांपा जिला जांजगीर चांपा

- अनिल कामनानी, स्व. मुरारी लाल कामनानी (45) निवासी माता देवालय वार्ड भाटापारा जिला बलौदा बाजार

- धीरज माधवानी, मोहन लाल माधवानी (31) निवासी सिंधी धर्मशाला गज पास पंडरी रायपुर

- अमित गुरुबक्षाणी, स्व. बच्चूमल गुरूबक्षाणी (37) निवासी गली नंबर-6 रवि ग्राम तेलीबांधा रायपुर

बॉक्स...

कीमत से दोगुना-तीन गुना रेट पर खपा रहे

कप सिरप की कीमत 60 से 70 रुपये बताई जा रही है। जिसे राजधानी समेत प्रदेश के अन्य जिलों में मोटी रकम के बेचा जा रहा। कीमत को दो गुना से तीन गुना तक पैसा लेकर एक सिरप दी जा रही। 200 से 250 रुपए तक वसूल रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket