रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

निजी कंपनी में शेयर होल्डर बनाने और लाभांश दिलाने का झांसा देकर पूर्व केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्तम लाल कौशिक के पुत्र दिलीप कौशिक के साथ चार करोड़ रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। आरोपी दंपती मनीष शाह और ऋचा शाह ने कौशिक के चार करोड़ रुपये हड़पने के साथ लाभांश भी नहीं दिया। ठगी का शिकार होने के बाद पूर्व मंत्री के पुत्र ने आरोपितों के खिलाफ खम्हारडीह थाने में ठगी का केस दर्ज कराया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

खम्हारडीह पुलिस के अनुसार 24 अक्टूबर, 2013 से 27 जुलाई, 2016 के बीच आरोपित दंपती मनीष शाह और ऋचा शाह ने अपनी कंपनी में शेयर होल्डर बनाने और रकम लगाने पर 30 प्रतिशत फायदा होने का प्रलोभन पीड़ित दिलीप कौशिक को दिया था। इसके बाद आरोपितों के झांसे में आकर दिलीप कौशिक ने कंपनी में चार करोड़ रुपये का निवेश कर दिया। आरोपित दंपती कंपनी के मेन डायरेक्टर हैं और प्रार्थी दिलीप कौशिक भी इस कंपनी में डायरेक्टर हैं। दिलीप कौशिक द्वारा कंपनी में पैसा लगाने के बाद भी उन्हें न तो शेयर दिया गया और न लाभांश दिया गया। आरोपित दंपती लगातार उन्हें घुमा रहे थे, जिससे परेशान होकर दिलीप कौशिक ने एसएसपी रायपुर आरिफ शेख से शिकायत की। उसके बाद खम्हारडीह थाने में धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया। पुलिस ने बताया कि शाह दंपती 2014 से आश्वासन देकर टालमटोल करते रहे। पिछले साल 2018 में दिलीप कौशिक और अन्य सदस्यों ने इस मामले पर बोर्ड की बैठक कराकर प्रकरण की निराकरण की मांग भी की थी। कौशिक के अलावा बोर्ड के अन्य सदस्यों और निवेश कर्ताओं ने भी प्रकरण में न्याय की गुहार लगाई है। बोर्ड में शाह दंपती के पारिवारिक सदस्य भी शामिल हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket