रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय की छात्रा की अग्रसेन धाम चौक के पास सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो गई थी। वहीं इस हादसे के पांच दिन बीत जाने के बाद यातायात के अधिकारी निरीक्षण करने घटनास्थल पर पहुंचे। जहां घटनास्थल के निरीक्षण के दौरान चार खामियां उनके सामने आई हैं। खामियाें को दूर करने राष्ट्रीय राजमार्ग विकास प्राधिकरण को आवश्यक सुधार कार्य के लिए यातायात विभाग ने प्रस्ताव तैयार कर भेजा गया है।

ये खामियां आई सामने :

- लभांडी से आने वाले वाहन जिनको मंदिर हसौद की ओर जाना है उनके लिए सर्विस रोड से हाइवे में मिलने वाले सड़क के नाली को समतल कराकर वाहनों के लिए लेफ्ट टर्न के लिए जगह बनाना ।

- जोरा की ओर का मुख्य मार्ग के सिगनल को 10 मीटर पीछे करना।

- लभांडी एवं वीडबल्यू केन्यान होटल मार्ग के मुख्य मार्ग पर जिग-जैग संपर्क की स्थिति को सीधा करना।

- लभांडी एवं वीडबल्यू केन्यान से राष्ट्रीय राजमार्ग तक पहुंच मार्ग में वाहनों के गति नियंत्रण के लिए रंबलर स्ट्रीप लगाना।

रायपुर उप पुलिस अधीक्षक यातायात गुरजीत सिंह ने कहा कि घटना स्थल का निरीक्षण किया गया है। खामियां मिलने के बाद राष्ट्रीय राजमार्ग विकास प्राधिकरण को आवश्यक सुधार कार्य के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। जल्द ही दुरुस्त किया गया है।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय राजमार्ग 53 में अग्रसेन धाम चौक हाइवे के मुख्य चौराहों में से है। इसमें भारी वाहनों का आवागमन नियमित रूप से होता है। चौक पर वाहनों का सुगमतापूर्वक आवागमन के लिए आटोमेटिक विद्युत सिगनल लगाया गया है, परंतु चौक पर 23 नवंबर को टैंकर वाहन से एवं 25 नवंबर को हाईवा ने दो वाहन चालकों को चपेट में ले लिया। घटना का वीडियो भी सामने आया। जिस पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रायपुर प्रशांत अग्रवाल के निर्देशन पर गुरजीत सिंह उप पुलिस अधीक्षक यातायात रायपुर के द्वारा दोनों सड़क दुर्घटना का कैमरे से वीडियो फूटेज का अवलोकन कर घटनास्थल पर उपस्थित होकर दुर्घटना के कारणों का निरीक्षण किया गया। इसमें आरोपित वाहन चालकों की गलती के साथ-साथ चौक पर तकनीकी खामियां भी मिली।

Posted By: Abhishek Rai

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close