रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

राजधानी के जेंटल इंटरटेनमेंट प्रालि. के चार पूर्व संचालकों के खिलाफ राजेंद्र नगर पुलिस ने कूटरचना कर कंपनी के 43 लाख रुपये गबन करने और धोखाधड़ी के मामले में एफआइआर दर्ज की है। आरोप है कि चारों पूर्व संचालकों ने राशि गबन कर सालों तक कंपनी को गुमराह किया। पुलिस चारों की तलाश कर रही है।

राजेंद्र नगर थाना प्रभारी संजय पुढ़ीर के मुताबिक संतोष पांडेय, मनोज उपवेचा, नवीन शर्मा और जयपाल सिंह गुलाटी उर्फ विक्की गुलाटी जेंटल इंटरटेनमेंट कंपनी में पूर्व संचालक थे। उस समय इन चारों ने भिलाई की अपना केबल नेटवर्क प्रालि. को पर्याप्त संख्या में सेटअप बॉक्स कंपनी की आड़ लेकर बेचा था। उस समय में सेटअप बॉक्स की कुल कीमत 43 लाख रुपये थी। घालमेल उजागर होने पर कंपनी के संचालक रिंकू कुमार कहार ने जब विक्रय किए गए सेटअप बॉक्स का हिसाब और रकम की जानकारी चारों आरोपितों से मांगी तो वे टालमटोल करने लगे। कई महीने बाद भी न तो हिसाब दिया न ही किसी तरह की जानकारी दी।

फर्जी वाउचर का किया इस्तेमाल

टीआइ ने बताया कि रिंकू ने जब प्रियदर्शिनी नगर भिलाई में संचालित अपना केबल नेटवर्क से संपर्क कर सेटअप बॉक्स के एवज में भुगतान की राशि के बारे में पूछा तब पता चला कि संतोष पांडेय ने फर्जी वाउचरों का इस्तेमाल कर कंपनी से 43 लाख रुपये आहरित कर लिया है।

चारों की भूमिका सामने आई

धीरे-धीरे पता चला कि केवल संतोष पांडेय ही नहीं, बल्कि नवीन शर्मा, मनोज उपवेचा और जयपाल सिंह गुलाटी भी लगातार अपना केबल के संपर्क में थे। जेंटल इंटरटेनमेंट कंपनी द्वारा विक्रित सेटअप बॉक्स के बदले जो भुगतान किया गया था, उसमें चारों ने राशि का आहरण किया था। रिंकू की शिकायत पर संतोष पांडेय, मनोज उपवेचा, नवीन शर्मा और जयपाल सिंह गुलाटी उर्फ विक्की गुलाटी के खिलाफ धारा 409, 420, 34 का केस दर्ज कर लिया गया। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network