रायपुर। (नईदुनिया प्रतिनिधि) Fraud For Job Offer News: छत्तीसगढ़ में रेलवे और शिक्षा विभाग में नौकरी लगाने के नाम पर ठगी की घटना घटी है। महिला आरोपित नेहा साल्वे ने विशाल कान्नुजवार को टीसी और उनकी पत्नी सपना को शिक्षिका की नौकरी लगाने के नाम पर पांच लाख हजार रुपये ठग लिया है। प्रार्थी ने पुरानी बस्ती पुलिस थाने में धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कराया है। पुरानी बस्ती पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुरानी बस्ती पुलिस के मुताबिक प्रार्थी शिवाजी मार्ग रामनगर मुक्तिधाम भिलाई सुपेला निवासी विकास कान्नुजवार पिता दामोदर कान्नुजवार भिलाई स्थित टच स्टोन सर्विस प्राइवेट लिमिटेड में ब्रांच इंचार्ज के पद पर पदस्थ हैं।

ससुराल आमगांव महाराष्ट्र में है। ससुराल के पड़ोस में रहने वाली विद्या जागधने ने फरवरी 2020 में पार्थी विकास की सास पुष्पा कान्नुजवार को बताया कि रायपुर में उसकी भाभी नेहा साल्वे रहती है जो सरकारी नौकरी लगवाती है। उसके बाद सास के माध्यम से पार्थी विकास आरोपित नेहा साल्वे का मोबाइल नंबर लेकर बात किया तो उन्होंने बताया कि रेलवे में टीसी की नौकरी है जिसमें लगने के लिए तीन लाख पचास हजार देना पड़ेगा। इसके साथ ही तत्काल में प्रोसेस के लिए एक लाख बीस हजार रुपये लगेगा।

सरकारी नौकरी की लालच में प्रार्थी विकास पैसे का इंतजाम करके 26 फरवरी 2020 को अपनी सास के साथ नेहा साल्वे के बताए अनुसार रेलवे स्टेशन रायपुर आया। उसके बाद नेहा साल्वे को अपने शैक्षणिक प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, बैंक पासबुक, मेरे तथा बच्चों का पांच-पांच फोटो एवं साथ में एक लाख 20 हजार रुपये दे दिया। करीब एक माह बाद नेहा साल्वे का फोन आया और उसने बताया कि अधिकारी मान नहीं रहे हैं। इसलिए तत्काल एक लाख दस हजार रूपये और देना पड़ेगा नहीं तो काम नहीं हो पाएगा। नौकरी की आस में प्रार्थी विकास ने बजाज फाइनेंस कंपनी से पर्सनल लोन लेकर 21 मार्च 2020 को एक लाख दस हजार रूपये दिया। आरोपित नेहा साल्वे ने प्रार्थी विकास को बताया कि शिक्षा विभाग में शिक्षक की भर्ती हो रही है यदि अपनी पत्नी को शिक्षा विभाग में शिक्षक के पद लगवाना हो तो एक लाख अस्सी हजार रुपये लगेगा।

उसके बाद पार्थी अपने ससुर दत्तात्रेय पुन्नाजवार से चर्चा कर उन्ही से एक लाख अस्सी हजार रूपये लेकर 30 अक्टूबर 2020 को रायपुर स्थित बंजारी वाले बाबा दरगाह के अंदर आरोपित नेहा साल्वे को नगद दिया। प्रार्थी अपनी पत्नी के साथ रायपुर स्थित फूलचौक आकर 70 हजार रूपयें नेहा साल्वे को दिया। उसके बाद नेहा साल्वे ने बताया कि ज्वाइनिंग लेटर आ गया है । लेटर प्राप्ति के लिए बीस हजार रूपया लगेगा। इस तरह पार्थी ने अलग-अलग तारीख को कुल पांच लाख 30 हजार रुपये दे दिया।

उसके बाद फरवरी 2021 में नेहा साल्वे ने बताया कि रेलवे में नहीं हो पा रहा है माईंस में आफिस वर्क की नौकरी लगवा देती हूं। उसके बाद उसने 09 फरवरी 2021 को डंगनिया स्थित बम्लेश्वरी मंदिर में ट्रेनिंग सेशन के लिए बुलाया। प्रार्थी विकास अपनी पत्नी सपना के साथ डंगनिया आया तो देखा कि पूर्णेश सोनकर, मधु निर्मलकर, सुधा अग्रवाल, सुमन देवांगन से नेहा साल्वे नौकरी लगाने के नाम पर रुपये लेकर घुमा रही है। प्रार्थी 22 जुलाई 2021 को नेहा साल्वे से नौकरी नहीं लग पाने पर पैसे वापस करने की मांग किया तो वह झगड़ा और विवाद करने उतारू हो गई। प्रार्थी ने परेशान होकर सिविल लाइन पुलिस थाने में नेहा साल्वे के खिलाफ धारा 420 के तहत अपराध दर्ज कराया है।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local