रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहीद मनमोहन सिंह बक्शी वार्ड परिसीमन के बाद भौगोलिक तौर पर बड़ा हुआ है। इसके क्षेत्र में एनआइटी जुड़ा है, सीमा सेंट्रल लाइब्रेरी तक जा पहुंची है, लेकिन आबादी, मतदाताओं की संख्या में बहुत ज्यादा इजाफा नहीं हुआ है। इस वार्ड में वीर शिवाजी नगर समेत एक और बस्ती जुड़ी है। मौजूदा पार्षद पंचू भारती 2014 में जीतकर आए थे। उनसे पहले किशोर साहू पार्षद थे। भारती का कहना है कि सभी जनप्रतिनिधियों की तरह वे भी आरक्षण का इंतजार कर रहे हैं। अगर आरक्षण अनुसूचित जाति का ही हुआ तो वे दावेदार हैं, बाकी पार्टी निर्णय करेगी। इस वार्ड के अंतर्गत विकास कार्य हुए हैं। 'नईदुनिया' पड़ताल में यह भी सामने आया कि रायपुर पश्चिम के क्षेत्र में बीते कुछ सालों में अच्छे विकास कार्य हुए हैं। खेल मैदान, अंडर ब्रिज, ओवरब्रिज, सड़क का चौड़ीकरण हुआ है।

-------------------------

परिसीमन के बाद यह है वार्ड की स्थिति

उत्तर- बायपास रेलवे लाइन एवं परमानंद नगर नहर रोड के बिंदु से जगन्नाथ चौक सुयश हॉस्पिटल होकर विवेकानंद विद्यापीठ नाला पुलिया तक।

पूर्व- विवेकानंद विद्यापीठ नाला पुलिस से नाला होते हुए दिशा कॉलेज के पास अंडरब्रिज रेलवे लाइन तक। अंडरब्रिज रेलवे लाइन से एनआइटी की बाऊंड्री से सेंट्रल लाइब्रेरी के पास जीई रोड तक।

दक्षिण- सेंट्रल लाइब्रेरी जीई रोड से सरस्वती नगर थाना से होते हुे मोहबाबाजार ब्रिज के नीचे शिवाजी नगर बायपास रेलवे लाइन तक।

पश्चिम- शिवाजी नगर महोबाबाजार ब्रिज के नीचे से बायपास रेलवे लाइन पर परमानंद नगर नहर रोड तक।

----

शहीद मनमोहन सिंह बख्शी के बारे में जानें- शहीद बख्शी सेना में पदस्थ थे, वे सेवा के दौरान ही वीरगति को प्राप्त हुए। जानकारी के मुताबिक उनका परिवार तात्यापारा क्षेत्र में निवासरत है। उनकी तस्वीर नगर निगम मुख्यालय के सामान्य सभा हाल में शहर के अन्य शहीद वीरों के साथ स्थापित है।