रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

अपने सपनों का आशियाना बनाने की सोच रहे लोगों के लिए काफी अच्छा मौका आ गया है। भवन निर्माण सामग्री में सरिया और सीमेंट दोनों की कीमतों में गिरावट आई है। साथ ही ईंट, गिट्टी के दाम भी स्थिर हैं। एक ओर जहां भवन निर्माण की कीमतों में गिरावट है। वहीं दूसरी ओर प्रॉपर्टी की कीमतों में भी स्थिरता आ गई है।

लोहा बाजार में छाई मंदी के साथ ही लोकल व बाहरी बाजार में कमजोर डिमांड के चलते सबसे अधिक सरिया की कीमतों में गिरावट आई है। फैक्ट्रियों में सरिया इन दिनों 35000 रुपये प्रति टन और रिटेल मार्केट में 38000 रुपये प्रति टन बिक रहा है। लोहा कारोबारियों का कहना है कि आने वाले दिनों में इसकी कीमतों में और गिरावट आ सकती है। सरिया की कीमतों में गिरावट के चलते लौह उत्पादों की कीमतें भी सस्ती हुई है। बताया जा रहा है कि पिछले तीन माह में सरिया की कीमतों में 5000 रुपये प्रति टन से अधिक की गिरावट आ गई है। सरिया के साथ ही भवन निर्माण में दूसरी सबसे जरूरी चीज सीमेंट के दाम भी सस्ते हो रहे हैं। डिमांड कम होने के कारण सीमेंट 215-220 रुपये प्रति बैग बिक रहा है। क्षेत्र से जुड़े कारोबारियों का कहना है कि सीमेंट के दाम में और गिरावट आ सकती है। ईंट के दाम भी स्थिर बने हुए हैं और यह 3700-3800 रुपये प्रति हजार बिक रहा है।

रेत की सप्लाई अभी भी प्रभावित, कीमतें आसमान पर-

रेत की कीमतों में बस अभी तेजी बनी हुई है। सप्लाई प्रभावित होने के कारण रेत के दाम अभी भी 11 से 12 हजार रुपये प्रति हाइवा (500 फीट) बिक रहे हैं। हालांकि रेत की कीमतों में भी पखवाड़े भर पहले की तुलना में गिरावट देखी गई।