रायपुर। Group marriage of 240 couples : कोराना महामारी के दौरान लगभग 11 माह तक राजधानी में एक भी भव्य सरकारी आयोजन नहीं हुआ। साल 2020-21 के वित्तीय वर्ष में पहला सामूहिक आयोजन 27 फरवरी को सामूहिक विवाह के रूप में होने जा रहा है।

मुख्यमंत्री निर्धन कन्या विवाह योजना के तहत लगभग 240 जोड़ों के विवाह को अंतिम रूप दिया जा रहा है। महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी, कर्मचारी जोरशोर से तैयारियों में जुटे हैं। पिछले साल फरवरी माह में साइंस कालेज मैदान में बारिश ने बाधा डाली थी और जैसे-तैसे शादी संपन्न् हुई थी।

इस साल बारिश अथवा अन्य परेशानियों से बचने इनडोर स्टेडियम में आयोजन किया जा रहा है। इसमें लगभग 60 लाख रुपये खर्च होंगे।

एक जोड़े पर 25 हजार खर्च

जिला परियोजना अधिकारी अशोक कुमार पांडेय के अनुसार शासन के नियमों के तहत एक जोड़े पर 25 हजार खर्च का प्रावधान है। खर्च में शादी में होने वाली तैयारियों के अलावा जोड़ों को उपहार में दी जाने वाली सामग्री भी शामिल है।

टेंट-शामियाना पर पांच हजार

प्रति जोड़ा के हिसाब से टेंट, शामियाना, वर-वधू के स्वजनों को भोजन, फोटोग्राफी, आने-जाने के लिए वाहन पर प्रति जोड़ा पांच हजार खर्च का प्रावधान है।

14 हजार की गृहस्थ सामग्री

कुल 25 हजार में से ही लगभग 14 हजार रुपये गृहस्थी बसाने के लिए उपहार में दी जाने वाली सामग्री पर खर्च होंगे। इस राशि से वर-वधु का पोशाक, चुनरी, साफा, श्रृंगार सामग्री, सूटकेस, अलमारी, पंखा, गद्दा, चादर, तकिया, प्रेशर कूकर, बर्तन आदि रसोई की सामग्री शामिल है।

चांदी की पायल, बिछिया, मंगलसूत्र

दुल्हन के लिए चांदी की पायल, बिछिया, चांदी का मंगल सूत्र भी दिया जाएगा। प्रत्येक दुल्हन को पांच हजार रुपये का जेवर दिया जाएगा।

बैंक ड्राफ्ट

वर-वधू को एक हजार रुपए बैंक ड्राफ्ट अथवा चैक दिया जाएगा।

गायत्री परिवार के 100 विद्वान कराएंगे फेरे

समता कॉलोनी स्थित गायत्री शक्तिपीठ के 100 विद्वान पंडित विधिवत फेरों की रस्म निभाएंगे।

पादरी-मौलवी की व्यवस्था

सामूहिक आयोजन में दो मुस्लिम जोड़ों का निकाह कराने मौलवी और दो ईसाई जोड़ों की शादी कराने पादरी की व्यवस्था रहेगी। अपने-अपने धर्म के अनुरूप विवाह संपन्न् होंगे।

10 हजार मेहमानों का रिसेप्शन

इनडोर स्टेडियम में दूल्हा-दुल्हन के रिश्तेदारों समेत 10 हजार मेहमानों के लिए भव्य रिसेप्शन का आयोजन किया जाएगा।

आन द स्पाट वैवाहिक प्रमाणपत्र

सामूहिक विवाह आयोजन में पहली बार आम जनता के लिए भी आन द स्पाट वैवाहिक प्रमाणपत्र बनाए जाने की व्यवस्था नगर निगम द्वारा की जा रही है।

जिन जोड़ों का विवाह हो रहा है, उन्हें तो प्रमाणपत्र मिलेगा ही, साथ ही आम जनता के लिए भी प्रमाणपत्र बनवाने की व्यवस्था की गई है। इसके लिए विवाह का निमंत्रण कार्ड, वर-वधू की फोटो, परिचय पत्र जमा करना होगा।

Posted By: Kadir Khan

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags