रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

राजधानी समेत प्रदेशभर में निजी स्कूलों की फीस और अन्य गतिविधियों पर निगरानी रखने के लिए पालक संघ सक्रिय हो गया है। पालकों ने राजधानी पैरेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन गठित करने का निर्णय लिया है। इसमें राजधानी के सभी स्कूलों के पालकों का प्रतिनिधित्व होगा। रविवार को सुंदर नगर स्थित बैस भवन में हुई बैठक में दो दर्जन स्कूलों के पालक शामिल हुए। पालकों ने एसएमएस के माध्यम से मेंबरशिप शुरू कर दी है। पालकों ने बताया कि शहर के स्कूलों में लगातार फीस बढ़ाने से पालकों में नाराजगी है। पालकों ने अन्य समस्याओं के साथ स्कूल प्रबंधन की मनमानी पर भी चर्चा की। शासन केअधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से मिलकर फीस वृद्धि के लिए विधानसभा में एक्ट (अधिनियम) पारित करने की मांग की जाएगी।

पालकों के लिए बना प्लेटफॉर्म

संगठन के पदाधिकारियों ने कहा कि संघ का उद्देश्य मिलजुलकर पालकों के सामाजिक, आर्थिक विकास में योगदान, समस्याओं के निराकरण के लिए पहल, बच्चों के विकास के लिए रचनात्मक गतिविधियां संचालित करना और स्कूलों के साथ बेहतर तालमेल, पालक-स्कूल संबंध को बेहतर बनाना है। संस्था का पंजीयन भी कराया जाएगा।

किसी भी स्कूल के पालक बन सकेंगे सदस्य

राजधानी के किसी भी स्कूल के पालक इसके सदस्य बन सकेंगे। संगठन के पदाधिकारियों का चुनाव आगामी बैठक में किया जाएगा। बैठक में मनहरण लाल वर्मा, विकास शर्मा, ईश्वरी सोनकर, महेंद्र सिंधारे, गजेंद्र तिवारी, महेंद्र वर्मा, प्रशांत सिन्हा, शितेंद्र ठाकुर, गोविंद पटेल, विक्रम चंद्राकर, जलपा शाह, रेखा शर्मा, अपेक्षा चौहान, दीपा रूंगटा, गायत्री तिवारी, नेहा जैन, मनीष अग्रवाल, प्रीतम जैन आदि विशेष रूप से मौजूद रहे।

--------