Health Awareness In Raipur: रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्‍तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा किशोरियों के लिए स्वास्थ्य जागरूकता व स्वच्छता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. मीरा बघेल भी मौजूद रहीं। उन्‍होंने कहा कि स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन का वास रहता है, इसलिए स्वस्थ रहना बेहद जरूरी है। मीरा बघेल ने किशोरियों को माहवारी के दिनों में स्वच्छता रखने के उपाय भी बताए।

उन्होंने कहा कि 11 से 19 वर्ष की किशोरियों का हीमोग्लोबिन टेस्ट और उनका वजन लेकर बीएमआइ (बाडी मास इंडेक्स) निकालना चाहिए, ताकि उनके स्वास्थ्य स्तर की नियमित जांच हो सके, साथ ही पोषण आहार के माध्यम से किशोरियों के एनीमिया (खून की कमी) के स्तर में सुधार भी लाया जाए।

इसके अतिरिक्त किशोरियों को आयरन फोलिक एसिड टेबलेट, हीमोग्लोबिन की जानकारी और संतुलित भोजन के बारे में विस्तार से बताया गया। कार्यक्रम में जिला कार्यक्रम प्रबंधक मनीष मेजरवार ने गेम्स खिलवाए एवं स्वास्थ्य प्रश्नोत्तरी का आयोजन भी करवाया। पीसीपीएनडीटी एक्ट की जिला सलाहकार डा. प्रगति जायसवाल ने बताया कि गर्भधारण पूर्व लिंग चयन व प्रसव पूर्व लिंग परीक्षण एक दंडनीय अपराध है।

ऐसा प्रमाणित होने पर पांच वर्ष की कैद और एक लाख तक के जुर्माने का प्रविधान है। कार्यक्रम में जेआर दानी गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल कालीबाड़ी, नवीन सरस्वती गर्ल्स हायर सेकंडरी स्कूल पुरानी बस्ती, शासकीय उच्चतर विद्यालय सिलतारा धरसींवा, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सिवनी, अभनपुर, सर्वोदय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय फरफौद आरंगा व शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय तिल्दा-नवेरा की छात्राओं ने भाग लिया।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local