रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रोटरी क्लब रायपुर व रायपुर ब्राइट फाउंडेशन ने एसबीएच ग्रुप आफ वुमेन एंड आइ के सहयोग से जलविहार कालोनी में मेडिकल चेकअप कैंप का आयोजन किया गया। शिविर कुल 237 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण हुआ, जिसमें 30 लोगों की स्थिति को देखते हुए मुफ्त चिकित्सा के लिए हास्पिटल रेफर किया गया है।

फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रदीप गोविंद शितूत ने बताया कि स्वास्थ्य जांच शिविर शुरू होने से पहले लोगों की पंजीयन कराया गया। उसके बाद विशेषज्ञ डाक्टरों ने 60 महिलाओं की गायनिक जांच की गई, जिनमें 15 महिलाएं ऐसी पाई गई, जिन्हें या तो अपनी बीमारी की अब तक जानकारी नहीं थी या अपने रोग के बढ़ जाने का एहसास नहीं था। महिलाओं को विस्तृत जांच के लिए साई बाबा नर्सिंग होम न्यू राजेंद्र नगर के लिए रेफर किया गया, जहां उनका मुफ्त इलाज किया जाएगा।

बदलावों से चिंतित होने की आवश्यकता नहीं

गायनिक जांच के लिए वरिष्ठ गायनोकोलाजिस्ट डा. पूर्वी गोयल ने महिलाओं के शरीर में समय-समय पर चेंज होने वाले हार्मोंस के बारे में बताया कि इन बदलावों से चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है। डायबिटिक महिला को प्रेग्नेंसी के समय विशेष सावधानी रखनी चाहिए और नियमित जांच व सही खानपान से गर्भस्थ शिशु को जन्मजात बीमारियों से बचाया जा सकता है। वहीं शुगर और बीपी की 87 जांच की गई, जिनमें से छह लोगों को प्रथम बार पता चला कि उन्हें बीपी की शिकायत है। नौ लोगों को शुगर का लेवल हाई होने से उन्हें भी विस्तृत जांच कर उचित इलाज कराने की सलाह दी गई।

70 लोगों की आंखों की जांच

शिविर में डा. नमित नांदे और उनकी टीम ने 70 लोगों की आंखों की जांच की। दृष्टि दोष के लिए चश्मे का नंबर दिया गया। 19 लोगों में कार्निया, डायबिटिक रेटिनोपैथी जैसी बीमारी के प्राथमिक लक्षण पाए जाने पर विशेष सावधानी बरतने व नियमित जांच की सलाह दी गई। उन्होंने कहा कि यदि मरीज चाहे तो साई बाबा नेत्र चिकित्सालय में मुफ्त में इलाज करा सकता है।

Posted By: Ravindra Thengdi

NaiDunia Local
NaiDunia Local