रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने मंगलवार को राष्ट्रीय फार्मास्युटिकल एंड इक्वीपमेंट मेनुफेक्चरर्स मीट में देशभर से आए दवा कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। इसमें सिपला, एबाट, डा. रेड्डीज लैबोरेटरीज, जिओमेड, भारत सीरम, जानसन एंड जानसन, नोवार्टिज और बायोकान समेत 90 फार्मा व सप्लायर कंपनियों ने हिस्सा लिया।

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने कहा कि मितानिन पेटी से लेकर मेडिकल कालेज अस्पतालों तक पर्याप्त दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने बेहतर आपूर्ति व्यवस्था जरूरी है। इसके बिना यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज का लक्ष्य हासिल नहीं किया जा सकता। सीजीएमएससी द्वारा प्रदेश भर में सही कीमत पर गुणवत्तापूर्ण दवा उपलब्ध कराने के लिए इसकी आपूर्ति की व्यवस्था को लगातार मजबूत किया जा रहा है। सही कीमत पर दवाओं मिलने से प्रदेश के लिए ज्यादा दवाइयां खरीदी जा सकती हैं।

उन्होंने मीट में हिस्सा ले रहे प्रतिभागियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि आप लोगों के सहयोग से प्रदेश में दवा आपूर्ति में तेजी लाने और पर्याप्त दवाओं के भंडारण में मदद मिलेगी। सीजीएमएससी के अध्यक्ष व विधायक डा. प्रीतम राम ने कहा कि दवाओं की पर्याप्त आपूर्ति और भंडारण के लिए समुचित व्यवस्था जरूरी है। दूरदराज के अस्पतालों में भी सभी दवाओं उपलब्ध हो, इसके लिए कार्पोरेशन लगातार आपूर्ति व्यवस्था को मजबूत कर रहा है। स्वास्थ्य विभाग के सचिव प्रसन्नाा आर ने कहा कि प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में सभी लोगों को निश्शुल्क दवाई और डायग्नोसिस मुहैया कराना सरकार का लक्ष्य है।

मीट में भाग ले रहे कंपनियों के फीडबैक और सुझावों से दवा आपूर्ति की व्यवस्था की कमियों और खामियों को दूर किया जा सकेगा। सप्लाई सिस्टम को किस तरह से बेहतर कर सकते हैं, इसके लिए इस मीट का आयोजन किया गया है। सीजीएमएससी के प्रबंध संचालक अभिजीत सिंह ने कार्पोरेशन द्वारा दवा खरीदी की प्रक्रिया और इसके विभिन्ना पहलुओं की विस्तार से जानकारी दी।

दवा सप्लाई की समस्याओं पर हुई चर्चा, आज भी बैठक

बैठक में सीजीएमएससी के द्वारा दवा आपूर्ति के लिए जारी निविदा में कंपनियों की भागीदारी बढ़ाने, वर्तमान निविदा प्रक्रिया में सप्लायरों को आ रही समस्याओं व उनके समाधान, दवाओं के क्षेत्र में उपलब्ध नवीन तकनीकों, भविष्य की कार्ययोजना आदि विषयों पर जो दिया गया। प्रतिभागी कंपनियों ने निविदा की वर्तमान प्रक्रिया और इसे बेहतर बनाने के लिए अपने फीडबैक और सुझाव दिए। राष्ट्रीय फॉर्मास्युटिकल एंड इक्वीपमेंट मेनुफेक्चरर्स मीट के दूसरे सात दिसंबर को मेडिकल उपकरणों के निर्माण और आपूर्ति से जुड़ी कंपनियां भाग लेंगी।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close