Hello Doctor Naidunia Raipur: रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। हर किसी के सेहत का राज उसके घर की रसोई होता है। शरीर और स्वास्थ्य के लिए गर्म और ताजा भोजन ही उपयुक्त होते हैं। लेकिन देखें तो आजकल भोजन बनाकर फ्रिज में रखकर उसे कई बार गर्म कर उपयोग करते हैं। फ्रिज का खाना सेहत के लिए ठीक नहीं है। इसमें रखने के बाद खाने की पौष्टिकता खत्म हो जाती है। इसलिए घर पर गर्म और ताजा भोजन करने की आदत डालना बेहद जरूरी है। यह बात हेलो डाक्टर कार्यक्रम में अतिथि के तौर पर मौजूद राजधानी के वरिष्ठ होम्योपैथी चिकित्सक डा. विजय शंकर मिश्रा ने कही।

डा. विजय ने कहा कि बीपी, शूगर, पाचन तंत्र, माइग्रेन जैसे अन्य लाइफ स्टाइल से जुड़ी बीमारियां हमारेे अनियमित जीवनशैली और खान-पान के तौर-तरीकों की वजह से सामने आ रही है। भारतीय पद्धति के खान-पान में दाल, चावल, सब्जी, रोटी, दाल, फल आदि सेहत के लिए बेहतर है। लेकिन आजकल पैकेट बंद खाने का उपयोग चलन में है। वहीं ठंडा खाना भी स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेय है। इसलिए समय रहते इन आदतों को बदल लेना ही बेहतर है।

स्वस्थ जीवन के लिए तनाव मुक्त रहना जरूरी

डा. विजय ने कहा कि जीवन के उतार-चढ़ाव के बीच तनाव सबसे बड़ी समस्या है। इसलिए सोचने की आदत ना डालें। क्योंकि मानसिक तनाव भी बीमारियों की जड़ है। खासतौर पर इस समस्या से घर की महिलाएं ज्यादा प्रभावित होती है। ऐसे में दिनचर्चा को नियमित कर लें। और तनाव मुक्त रहें तो।

पोस्ट कोविड के बाद सामने आई कई बीमारियां

डा. विजय ने कहा कि कोरोना से स्वस्थ होने के बाद शारीरिक कमजोरी, सांस लेने में दिक्कत, फेफड़ों से संबंधित शिकायतें, नींद ना आना, खाना ना पचना जैसी शिकायतें शरीर को तोड़ रही है। ओपीडी में हर रोज औसत 10 मरीज पहुंच ही रहे हैं। होम्योपैथी पद्धति से इस तरह की समस्याओं का बेहतर इलाज हो रहा है। इसलिए लक्षण नजर आने पर दवाओं से शतप्रतिशत राहत मिलेगी।

पाठकों के सवाल और चिकित्सक के जवाब

- मुझे कोरोना हुआ था, अब शरीर काफी कमजोर हो गया है। - वर्षा मेहर, भिलाई

- नियमित व्यायाम करें। खान-पान का ध्यान रखें। ठीक हो जाएगा। ज्यादा समस्या है तो एक बार चिकित्सकीय जांच के बाद कुछ दवाएं ले सकते हैं।

- काफी दिनों से पैरों में सूजन है, इलाज के बाद भी राहत नहीं मिल रही। - रजनी शर्मा, रायपुर

- आप जो दिक्कत बता रहीं हैं। एक बार पैर का एक्स-रे कराएं। पस या गांठ हो सकती है। इसकी जांच के बाद ही इलाज से राहत मिलेगी।

- नींद नहीं आती है। पेट भी सही तरह से साफ नहीं होता। - मम्मूलाल साहू, बालोद

- होम्योपैथी की दवा अल्फा टानिक एक-एक चम्मच और पेसी फ्लोरा 40 बूंद दिन में दो बार लें राहत मिलेगी।

- पेशाब सही नहीं आता है। इलाज चल रहा लेकिन राहत नहीं मिल रही है। - महेश देवांगन, जगदलपुर

- जैसा आप बता रहें हैं, होम्योपैथी की जो दवाएं आप ले रहे वह बेहतर है। जल्द आराम मिलेगा।

- माइग्रेन की समस्या है। होम्योपैथी चिकित्सा से क्या ठीक हो सकता है। - प्रतिभा होता, रायपुरा

- यह एक फंग्सनल डिसआर्डर है। अधिक मानिसक तनाव की वजह से यह समस्या आती है। तनाव कम करें, होम्योपैथी में इसका कारगर इलाज है। दवाओं से यह नियंत्रण में आ जाएगा।

- सर्दी होने पर सिर सर्दी की समस्या आती है? - दीपांशु वर्मा, भिलाई

- यह सब एलर्जी के कारण भी होता है। इसक लिए दवा लेने की जरूरत है।

- शरीर में छोटी-छोटी गांठ हो रही है? - प्रशांत कुमार अग्रवाल, गुढ़ियारी

- यह समस्या दो तरह की होती है। पहला शरीर का वजन अधिक बढ़ाने से। दूसरा पारिवारिक (जेनेटिक) बीमारी से। इससे ज्यादा खतरा नहीं है।

- पाइल्स की समस्या है इसके लिए क्या करना चाहिए? - पूर्णिमा मानिकपुरी, चूनाभट्टी रमण मंदिर वार्ड

- यह समस्या खाली पेट होने के कारण आती है। इसके लिए खाने के रुटीन में थोड़ा बदलाव करना चाहिए। यह दवा लेने से ठीक हो जाएगा घबराने की जरूरत नहीं है।

- गांठ, शरीर झनझनाहट ज्यादा होती है। इसके कारण चक्कर भी आ जाता है? - राजेश मिश्रा, पंडरी

- पहले विटामिन डी, विटामिन सी की जांच आवश्यक है। यह समस्या आमतौर पर विटामिनों की कमी के कारण आती है।

- बवासीर की समस्या है? - राजेश शर्मा, डीडी नगर

- पेट साफ नहीं होने के कारण और लगातार बैठने की वजह से यह समस्या आती है। फिलहाल इस समय हरी सब्जी का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें। और आलू, मिर्च, मैदा का सेवन कुछ महीनों तक न करें।

- सीने में दर्द हो रहा है? - राजेश साहू, मठपुरैना

- फिलहाल सावधानी बरतें और वजन वाली चीज न उठाए।

- शुगर की समस्या है? - भोजराज साहू, टिकरापारा

- शुगर अधिक होने के कारण होम्योपैथिक में इलाज नहीं है। इसका इलाज होम्योपैथिक में प्रारंभिक स्थिति में हो जाता है।

- शरीर में झनझनाहट होती है। और नींद नहीं आती है? - मिथलेश शर्मा, धमतरी

- नमक के अधिक सेवन करने के कारण होता है। नींद नहीं आने के कारण किसी चीज के बारे में अधिक सोचना है। इस कारण सोने के समय किसी चीज को न सोंचे।

- एड़ी में दर्द होता है? - सुधीर धाड़ीवाल, भिलाई

- चप्पल या जूते आरामदायक पहनें। सुबह-शाम मालिश करें।

- अंगुली के पास तलवे में दर्द होता है? -सजल अग्रवाल, पुरानी बस्ती

- पहले एक्सरे करना पड़ेगा। फिर कुछ बता पाएंगे।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local