रायपुर। स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने पुरखों के सपने के अनुरूप विकसित और समृद्ध छत्तीसगढ़ बनाने के लिए प्रदेशवासियों से सहयोग की अपील की है। मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा है कि स्वतंत्रता दिवस देश को आजाद करने वाले महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को याद करने वाला दिन होता है।

देश के लिए त्याग और बलिदान देने वाले सेनानियों से हमें प्रेरणा लेकर उनके सपनों को आगे बढ़ाने का संकल्प लेना चाहिए। छत्तीसगढ़ के महान सपूतों ने भी स्वतंत्रता आंदोलन में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। उन सपूतों के योगदान को आने वाली पीढ़ी तक पहुंचाने की आवश्यकता है, जिससे कि वे अपने पुरखों पर गर्व कर सकें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य को पुरखों के सपनों के अनुरूप विकसित करने के लिए राज्य सरकार काम कर रही है। राज्य में ग्रामीण जन-जीवन को खुशहाल बनाने की दिशा में छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी नरवा, गस्र्वा, घुस्र्वा अउ बारी के संवर्धन के लिए सुराजी गांव योजना शुरू की गई है।

इससे राज्य की कृषि और ग्रामीण अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। लोक भावना के अनुरूप संस्कृति के संरक्षण के लिए हरेली, तीज, छठ, माता कर्मा जयन्ती और विश्व आदिवासी दिवस पर सामान्य अवकाश घोषित किए गए हैं। किसानों, समाज के कमजोर वर्ग के लोगों सहित समाज के सभी वर्गों की बेहतरी के लिए राज्य सरकार ने अनेक योजना प्रारम्भ की है।

मुख्यमंत्री ने रक्षाबंधन पर्व की बधाई देते हुए अपने संदेश में कहा है कि रक्षाबंधन भाई-बहन के स्नेह और सम्मान का त्यौहार है। इस दिन बहनें भाई के कुशल क्षेम की मंगल कामना करते हुए रक्षा सूत्र बांधती हैं और भाई बहनों की सदा रक्षा करने का वचन देते हैं।