रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। अवैध कारोबार में अब तस्कर नाबालिगों को अपना हथियार बना रहे हैं। उनके जरिए गांजा की तस्करी करवा रहे हैं। उरला थाना क्षेत्र में पकड़े गए तस्कर के साथ दो नाबालिग भी पकड़े गए हैं। इनके पास से 50 किलोग्राम गांजा बरामद हुआ है। नाबालिगों की उम्र 13 और 14 वर्ष है। ओडिशा से उत्तर प्रदेश के लिए गांजे की सप्लाई करते थे। पुलिस ने रमेश कुमार पिता फिरतू लाल (35) ग्राम गडोली थाना देवगांव जिला आजमगढ़ उत्तर प्रदेश को गिरफ्तार किया है।

उरला थाना प्रभारी सुरेश ध्रुव ने बताया कि पांच दिनों पहले गांजा के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई थी। ट्रक में पांच क्विंटल गांजा पकड़ा गया था। उनसे पूछताछ में रमेश के बारे में अहम जानकारी मिली थी। शनिवार को पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि सरोरा चौक के पास कुछ संदिग्ध लोग गांजा लेकर बस का इंतजार कर रहे हैं। उरला थाने की टीम तत्काल वहां पहुंची।

सूचना के मुताबिक वहां पर तीन लोग खड़े थे। उनके पास चार बैग थे। पुलिस के नजदीक जाते ही तीनों भागने का प्रयास करने लगे, जिहें घेराबंदी कर पकड़ा गया। तलाशी में दो ट्राली बैग एवं दो सफर बैग में गांजा भरा हुआ था। आरोपितों से पूछताछ पर उन्होंने बताया कि वे प्रयागराज और आजमगढ़ (उत्तर प्रदेश) के रहने वाले हैं। मुख्य आरोपित रमेश कुमार ने बताया कि साथ में पकड़े गए दो नाबालिग का इस्तेमाल यात्रा के दौरान सामान (गांजा) को अलग-अलग जगहों में रखने एवं नाबालिग होने का फायदा उठाते हुए आम लोगों एवं पुलिस से बचाने के लिए करता था। एक महीने में तीन से चार खेप गांजा की सप्लाई ओडिशा से उत्तर प्रदेश तक करते थे। मुख्य आरोपित रमेश कुमार पेशे से ट्रक ड्राइवर है। आरोपित बस, ट्रेन और ट्रक के रास्ते गांजा लेकर जाते थे।

Posted By: Abhishek Rai

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close