रायपुर। राजधानी रायपुर के डीडी नगर थाना क्षेत्र में शुक्रवार को स्टील कारोबारी के कर्मचारी से दिन दहाड़े लुटेरों ने 26 लाख स्र्पयों की लूट का अंजाम दिया है। बताया जा रहा है कि कर्मचारी स्र्पया लेकर उसे कारोबारी के घर ले जा रहा था, इसी दौरान दो लोग वहां आए और खुद को क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताकर उनसे स्र्पये ले लिए और कहा कि थाने में आकर इसका हिसाब दें।

इसके बाद लुटेरे वहां से फरार हो गए। कारोबारी ने कुछ देर बाद थाने पहुंचकर घटना की सूचना दी। इसके बाद थाने में अज्ञात आरोपितों के खिलाफ अपराध दर्ज कर बताए गए हुलिए के आधार पर उनकी पतासाजी शुरू कर दी गई है।

मिली जानकारी के मुताबिक राजधानी के कुशालपुर इलाके में नंदन टीएमटी ग्रुप के कर्मचारी से लूट की बड़ी वारदात हुई है। बताया जा रहा है कि कर्मचारी धीरेन्द्र मिश्रा बड़ी रकम लेकर जा रहे था, ठीक उस दौरान दो लोग मोटर साइकल पर आए और खुद को क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताकर लूट की वारदात को अंजाम दिया है। करोबारी नवीन अग्रवाल ने थाने आकर इस घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई।

मामला डीडी नगर थाना क्षेत्र का है। एक तरफ गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू लॉ एंड ऑर्डर की समीक्षा कर रहे थे, वही दूसरी तरफ चोरों ने इस घटना को अंजाम दिया। इस घटना के सामने आने के बाद प्रशासन की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा हो गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही सभी थानों को अलर्ट कर दिया गया है। नाकेबंदी भी की गई। आउटर एरिया में पुलिस की टीम लगातार सर्चिंग कर रही।

सरेराह हुई लूट की इस घटना के बाद गृहमंत्री का बयान भी सामने आया है। उन्होंने कहा कि क्राइम ब्रांच के भंग होने का जबरदस्त प्रचार हुआ है इसके बावजूद आरोपित क्राइम ब्रांच के नाम से धोखाधड़ी कर रहे हैं। उन्होंने आश्वासन दिया कि आरोपी को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति के पीछे पुलिस नहीं लगाई जा सकती। किसके दिमाग मे क्या घूम रहा यह नहीं कहा जा सकता, इसलिए लोगों को खुद भी सतर्क रहने की जरूरत है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket