रायपुर। कोरोना महामारी के बीच होम आइसोलेशन मरीजों के लिए संजीवनी साबित हुई है। जहां बिना लक्षण और कम लक्षण वाले मरीज़ों के लिए यह कारगार रहा। गंभीर बीमारी की ओर जाते मरीजों को भी चिकित्सकों ने होम आइसोलेशन में रिकवर किया है। राज्य में अब तक 71.10 फीसद संक्रमितों का इलाज होम आइसोलेशन से हुआ है। जबकि 15.38 फीसद मरीज अस्पताल से स्वस्थ हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक अब तक 9,07,589 संक्रमित मिले हैं। इसमें कुल 7,85,598 लोगों ने कोरोना को मात दी है।

स्वस्थ हुए लोगों में 1,39,677 लोगों का इलाज अस्पताल से हुआ। जबकि 6,45,921 मरीजों को होम आइसोलेशन से स्वस्थ किया गया है। सर्वाधिक मरीज अब तक रायपुर में मिले हैं। यहां पर 1,52,690 संक्रमित मिले। इसमें 26,890 अस्पताल से स्वस्थ हुए। और 1,15,223 लोगों ने होम आइसोलेशन में इलाज कराया। यानी जिले में 75 फीसद मरीज होम आइसोलेशन से स्वस्थ हुए हैं।

समय के साथ बदले नियम

होम आइसोलेशन की शुरुआत में कई तरह के पैमाने रखे गए थे। इसमें सिर्फ एसिमटोमेटिक, 50 से कम आयु के लोगों को और किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित न हों, घर पर अलग रूम और बाथरूम जैसी कई सुविधाओं को देखते हुए ही अनुमति दी जाती थी। मगर, समय के साथ आते बेहतर परिणाम और बिस्तरों की कम जैसे कई समस्याओं के चलते नियम में बदलाव होता चला गया।

होम आइसोलेशन के लिये यह काम जरूरी

कोरोना रिपोर्ट आने के बाद सबसे पहले होम आइसोलेशन में पंजीयन कराना जरूरी है। इसमें सभी जानकारी उपलब्ध कराना होता है। इसके बाद प्रशासन चिकित्सक और जरूरी दवाएं उपलब्ध कराता है। पंजीयन ना कर पाने की स्थिति में मरीज प्रशासन के टोल फ्री नंबर पर भी कॉल कर मदद ले सकते हैं।

राज्य के पांच सर्वाधिक संक्रमित जिलों की स्थिति

जिला - कुल स्वस्थ - अस्पताल - होम आइसोलेशन

रायपुर - 142113 - 26890 - 115223

दुर्ग - 88347 - 12982 - 75365

बिलासपुर - 55236 - 5719 - 49517

रायगढ़ - 46002 - 10208 - 35814

जांजगीर - 41945 - 6944 - 35001

प्रमुख पांच जिलों में होम आइसोलेशन से स्वस्थ मरीजों की दर

जिला - फीसद

रायपुर - 75

दुर्ग -80

बिलासपुर - 79

रायगढ़ - 64

जांजगीर - 68

कोरोना के इन आंकड़ों पर एक नज़र

9,07,589 कोरोना के केस राज्यभर में 15 मई तक

86.55 फीसद मरीज अब तक हुए है स्वस्थ

12.16 फीसद संक्रमितों का चल रहा इलाज

1.27 फीसद मरीजों की हुई है मौत

रायपुर जिला प्रशासन द्वारा जारी होम आइसोलेशन कंट्रोल रूम हेल्प लाइन नंबर

आपातकालीन स्थिति

7566100283

7566100284

7566100285

अस्पताल शिफ्टिंग

7880100313

7880100314

7880100315

मरीजों के दे रहे हैं बेहतर सेवाएं

बिना लक्षण वाले या कम संक्रमित मरीजों के लिए होम आइसोलेशन बेहतर विकल्प है। इसके परिणाम तो बेहतर रहे ही लोगों को भी यह व्यवस्था काफी पसंद आई है। राज्य सरकार द्वारा होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों के इलाज, दवाओं की व्यवस्था की गई है। सैकड़ों चिकित्सक इस व्यवस्था के तहत मरीजों को बेहतर सेवाएं दे रहे हैं।

- डॉ. सुभाष मिश्रा, नोडल अधिकारी, राज्य कोरोना नियंत्रण अभियान

खुद से इलाज न करें

कोरोना रिपोर्ट पाजिटिव आने पर सबसे पहले सीजी होम आइसोलेशन की साइट पर पंजीयन करा लें। जिन्हें पंजीयन करना नहीं आता है। 104 या प्रशासन के टोलफ्री नम्बर पर काल कर मदद ले सकते हैं। होम आइसोलेशन में चिकित्सकों की निगरानी में ही उपचार लें। खुद से इलाज बिल्कुल भी न करें।

- डॉ. निलय मोझारकर, होम आइसोलेशन डॉक्टरों के इंचार्ज, जिला-रायपुर

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags