रायपुर। विधानसभा के बजट सत्र में गुस्र्वार को गृह और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री रामसेवक पैकरा विपक्ष के साथ सत्ता पक्ष के विधाकों के भी निशाने पर रहे। सत्तास्र्ढ़ विधायकों के सवाल पर विपक्ष ने मंत्री को घेरा और आरोपों की बौछार कर दी। महिलाओं पर अपराध और पुलिस की सुस्त कार्रवाई के विरोध में कांग्रेस ने सदन से बहिर्गमन किया। विपक्ष ने अपराधियों के खिलाफ चालान पेश करने में हो रही देर के लिए जिम्मेदार पुलिस वालों पर कार्रवाई की मांग करते हुए सदन में नारेबाजी भी की।

प्रश्नकाल में सत्तास्र्ढ पार्टी के सांवलाराम डाहरे और अवेश सिंह चंदेल ने दुर्ग जिला और बेमेतरा विधानसभा क्षेत्र में अपराध को लेकर सवाल पूछा। डाहरे ने आरोप लगाया कि कोर्ट के आदेश के बावजूद बलात्कार पीड़िताओं को मुआवजा नहीं मिल रहा है। वहीं, चंदेल ने कोर्ट में चालान पेश करने में हो रही देर पर आपत्ति की। मौके की ताक में बैठे विपक्ष ने इन मुद्दो को लपक लिया और मंत्री पर सवाल दागने लगे। इस दौरान कांग्रेस विधायक संतराम नेताम ने कहा कि तीन साल पहले उन्होंने एक एफआईआर कराया था, उस पर आज तक कार्रवाई नहीं हुई।


चंद्रा के साथ विमल ने किया सदन का वॉकआउट

सदन में ध्यानाकर्षण पर चर्चा के दौरान निर्दलीय विधायक डॉ. विमल चोपड़ा ने सामाजिक पेंशन को लेकर महिला बाल विकास मंत्री रमशीला साहू को घेरने का प्रयास किया। मंत्री के जवाब से असंतुष्ट डॉ. चोपड़ा ने सदन से बहिर्गमन की घोषणा कर दी। बसपा विधायक केशव चंद्रा भी उनके समर्थन में सदन से बाहर चले गए।


अभिभाषण पर चर्चा के दौरान चले जुबानी तीर

राज्यपाल के अभिभाषण पर गुस्र्वार से सदन में चर्चा शुरू हुई। शुरूआत कृतज्ञता प्रस्ताव लाने वाले शिवरतन शर्मा ने की। चर्चा के दौरान दोनों तरफ से जमकर जुबानी तीर चले। सत्ता पक्ष ने सरकार की उपलब्धि गिनाई और चौथी बार फिर सत्ता में आने का भरोसा जाताया। वहीं, विपक्षी सदस्यों ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव में जनता सबक सिखाएगी। इस दौरान पकौड़े से लेकर राम भक्ति पर भी बहस होती रही।


कवासी ने संभाली कमान

नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव गुस्र्वार को सदन में नहीं थे। भूपेश बघेल भी प्रश्नकाल के दौरान उपस्थित नहीं थे। ऐसे में विपक्ष की तरफ से सरकार पर हमले की कमान उप नेता प्रतिपक्ष कवासी लखमा ने संभाल रखी थी। लखमा लगभग हर मुद्दे पर खड़े हो कुछ न कुछ कह रहे थे। लखमा ने दो बार सदन से बहिर्गमन भी कराया। वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा भी लगातार सरकार पर हमले कर रहे थे।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close