रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्तीसगढ़ के ड्राइविंग लाइसेंस धारकों के लिए बड़ी खबर है। छत्तीसगढ़ परिवहन विभाग ने 17 मई 2022 से क्यूआर कोड युक्त लाइसेंस की व्यवस्था शुरू की गई है। जिसमें अब तक 37 हजार 500 पंजीयन प्रमाण पत्र और ड्राइविंग लाइसेंस बन चुके हैं। इसमें एक क्लिक में आवेदक की पूरी जानकारी मिल जाएगी।

नए ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी के क्यूआर कोड को एंड्रायड मोबाइल से स्कैन कर लाइसेंसधारक, वाहन की सारी जानकारी मोबाइल पर देखी जा सकेगी। क्यूआर कोड वाले ड्राइविंग लाइसेंस पर व्यक्ति का मोबाइल नंबर दर्ज है, जिससे आवश्यकता पड़ने पर संपर्क किया जा सकेगा। लाइसेंस को प्लास्टिक कार्ड के स्थान में पाली कार्बोनेट कार्ड पर छापा जा रहा है, जो टूटेगा नहीं।

डाक के माध्यम से आवदेकों के घर पहुंचाया जा रहा है लाइसेंस

क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी शैलाभ साहू ने बताया कि प्रदेश में 60 लाख ड्राइविंग लाइसेंस और 55 लाख आरसी बुक हैं। एक साल में करीब तीन लाख ड्राइविंग लाइसेंस बनते हैं। क्यूआर कोड युक्त लाइसेंस 17 मई 2022 से पंडरी कार्यालय में शुरू हो गए है। विभाग अब तक 23 हजार 241 पंजीयन प्रमाण पत्र और 7001 ड्राइविंग लाइसेंस आवेदकों के घर पहुंचा चुका है।

इसका जिम्मा कर्नाटक की एमसीटी कार्ड्स एंड टेक्नोलाजी प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी को 10 साल के लिए सौंपा गया है। यह कार्ड सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय नई दिल्ली द्वारा तय किए गए मानकों को पूर्ण करते हुए जारी किये जा रहे हैं। परिवहन विभाग ने इसके लिए हेल्पलाइन नंबर 75808-08030 जारी किया है। आवेदक फोन करके अपनी समस्या का निराकरण कर सकते हैं।

परिवहन मंत्री रख रहे निगरानी

परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर द्वारा तुंहर सरकार तुंहर द्वार के सुव्यवस्थित संचालन के लिए निरंतर निगरानी रखी जा रही है। परिवहन विभाग से संबंधित जनसुविधाएं घर बैठे मिलने से लोगों को अब बार-बार परिवहन विभाग के चक्कर लगाने से भी बच रहे हैं।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close