रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

फर्जी पेपर बनाकर दो अलग-अलग जगहों पर पंजीयन कराकर वाहन को बेचने का मामला सामने आया है। मैग्मा लिसिंग लिमिटेड कंपनी के खिलाफ धोखाधड़ा का केस दर्ज कर खमतराई पुलिस मामले की जांच कर रही है।

खमतराई पुलिस के मुताबिक कोरबा निवासी संजय अग्रवाल ने वर्ष 2007 में जेसीबी वाहन खरीदा था। उसे मैग्मा लिसिंग लिमिटेड कंपनी से फायनेंस कराया था। वर्ष 2009 में किस्त नहीं पटाने पर फायनेंस कंपनी ने वाहन को सीज कर दिया था। उसके बाद पार्थी ने फायनेंस कंपनी के कार्यालय जाकर पुरानी किस्त जमा कर वाहन वापस देने की मांग कर रहे थे। लेकिन कंपनी वाहन को वापस न देकर उनसे पूरे पैसे की मांग कर रही थी। फिर कंपनी ने अधिक पैसे कमाने के चक्कर में वाहन के फर्जी दस्तावेज बनाकर रायपुर परिवहन कार्यालय में दोबारा पंजीयन कराकर उसे बेच दिया। इस मामले की जानकारी मिलने पर सहायक क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी कुमारी योगेश्वरी वर्मा की ओर से डाटा ऑपरेटर माल-यान शाखा महेंद्र गायकवाड़ ने खमतराई थाना में शिकायत दर्ज करवाई। खमतराई पुलिस ने फाइनेंस कंपनी के विरुद्घ धारा 420, 471 के तहत केस दर्ज कर लिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना