रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पेशेवर भारतीय मुक्केबाज विजेंदर सिंह का मुकाबला द जंगल रंबल में घाना के मुक्केबाज इलियासु सुले से होगा। यह मुकाबला रायपुर के बलबीर सिंह जुनेजा स्टेडियम में बुधवार शाम 6.30 बजे से शुरू होगा। रायपुर में यह पहला पेशेवर मुक्केबाजी मुकाबला होगा। पूरे देश के प्रशंसक विजेंदर सिंह के मुकाबले को देख सकें। इसका टीवी में प्रसारण भी होगा। कार्यक्रम को लेकर एक होटल में पत्रकारवार्ता आयोजित की गई। इसमें विजेंदर ने पत्रकारों के सवालों का जवाब दिया।

प्रेस वार्ता में जब विजेंदर से ये पूछा गया कि क्या वो कल के मुकाबले को लेकर नर्वस हैं तो हंस पड़े। हंसते हुए बोले-अच्छा सवाल है, मैं इसका जवाब कल दूंगा। विजेंदर ने कहा कि रायपुर में पहली बार ये प्रोफेशनल बाक्सिंग इवेंट हो रहा है। यहां के खिलाड़ी इससे प्रेरित होंगे। विजेंदर के प्रतिद्वंदी इलियासू अफ्रीकन लायन के नाम से मशहूर हैं। इसे लेकर विजेंदर ने कहा कि कल पता चलेगा कि कौन बेहतर है? अफ्रीकन लायन या इंडियन टाइगर।

प्रदेश के खिलाड़ियों को इंट्री फ्री

इस कार्यक्रम के जुड़े चिन्मय तिवारी ने मीडिया से चर्चा के दौरान एक अहम घोषणा की। तिवारी ने कहा कि प्रदेश के ऐसे प्लेयर्स जो बाक्सिंग से जुड़े हैं, उन्हें मैच इवेंट में इंट्री फ्री दी जाएगी। विजेंदर ने भी इच्छा जताते हुए कहा कि प्रदेश के युवा खिलाड़ी आएं और बाक्सिंग देखें। विजेंदर ने आगे ये भी कहा कि जरूरी नहीं कि वो बाक्सिंग करें। वो जिस भी खेल में बेहतर करना चाहते हैं, जरूर करें। उन्हें प्रेरित करना ही हमारा मकसद है।

मुख्यमंत्री के समर्थन का दिया धन्यवाद

भारत के पहले पेशेवर मुक्केबाज विजेंदर सिंह इस मुकाबले के लिए बड़े पैमाने पर प्रशिक्षण ले रहे थे। इस मुकाबले के लिए विजेंदर सिंह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद दिया है। गौरतलब है कि आठ जून को प्रोफेशनल मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने मुख्यमंत्री बघेल से मुलाकात की थी और छत्तीसगढ़ में प्रोफेशनल बाक्सिंग मैच का आयोजन करने के लिए अनुरोध किया था।

मुख्यमंत्री ने इस अनुरोध को स्वीकार किया था और उसी तारतम्य में मुख्यमंत्री बघेल की पहल पर राजधानी रायपुर में अंतरराष्ट्रीय बाक्सिंग मुकाबला होने जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि छत्तीसगढ़ को एक खेल राज्य में के रूप में बदलने का उनका प्रयास जारी है। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा है कि विजेंदर सिंह की पेशेवर लड़ाई इस योजना को और मजबूत करेगी कि हमें न केवल लोगों को प्रोत्साहित करना है बल्कि छत्तीसगढ़ को खेल की महाशक्ति के रूप में मानने के लिए भी तैयारी करनी है।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close