रायपुर। Raipur News : कोरोना काल में सारे व्यवसाय सेक्टर प्रभावित हुए हैं और कारोबार में गिरावट आई है, लेकिन बीमा ऐसा सेक्टर रहा है, जिसके कारोबार में बढ़ोतरी हुई है। बताया जा रहा है कि इस साल अप्रैल से अक्टूबर तक रायपुर मंडल में 209 करोड़ रुपये का बीमा प्रीमियम का भुगतान किया गया, जबकि पिछले साल इसी अवधि में यह आंकड़ा 180 करोड़ रुपये था।

बीमा प्रीमियम में 15 फीसद बढ़ोतरी हुई है, लेकिन पालिसियों की संख्या में करीब 20 फीसद की गिरावट आई है। साल 2019 में अप्रैल से अक्टूबर के बीच एक लाख तीन हजार बीमा पालिसियां हुईं थी, लेकिन इसी अवधि में इस साल सिर्फ 78 हजार पालिसियां हुईं। भारतीय जीवन बीमा निगम के अधिकारी सत्यम कुमार ने बताया कि निश्चित रूप से कोरोना काल में बीमा के प्रति लोग ज्यादा जागरूक हुए हैं, ज्यादा प्रीमियम व फायदे वाली पालिसियां लेने में दिलचस्पी दिखाई है।

प्रीमियम बढ़ने का यह माना जा रहा कारण

बीमा विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना के भय से इस साल उपभोक्ताओं ने स्वयं को सुरक्षित रखना बेहतर समझा। अपने घर-परिवार के लोगों की सुरक्षा का ध्यान रखा। इसके चलते पिछले सालों की अपेक्षा ज्यादा प्रीमियम व फायदे वाले बीमा प्लान लिए। अब लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति ज्यादा जागरूक हो रहे हैं।

जीवन बीमा से ज्यादा रहा स्वास्थ्य बीमा पालिसी

बीमा विशेषज्ञों का कहना है कि पिछले सालों की तुलना में इस साल उपभोक्ताओं ने कोरोना के कारण स्वास्थ्य पालिसी लेने में ज्यादा दिलचस्पी दिखाई। लोगों ने सोचा कि मेडिकल खर्च वहन करने में कोई परेशानी न हो, इसलिए जीवन बीमा से अधिक स्वास्थ्य बीमा पालिसी ली। अप्रैल से अक्टूबर तक की कुल बीमा पालिसियों में 40 फीसद हिस्सा स्वास्थ्य बीमा का रहा। पिछले साल इसी अवधि में स्वास्थ्य बीमा का आंकड़ा महज 20 फीसद था।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस