रायपुर। IPS GP Singh Case News: आय से अधिक संपत्ति और राजद्रोह के आरोपित निलंबित आइपीएस जीपी सिंह को पूछताछ के लिए कोतवाली पुलिस थाने में हाजिर होना था, लेकिन वह नहीं पहुंचे। जानकारी के मुताबिक इसके पूर्व निलंबित आइपीएस जीपी सिंह को नोटिस जारी किया गया था। 12 बजे तक पुलिस थाने में हाजिर होने था लेकिन वह पुलिस थाने नहीं पहुंचे। इसके बाद अब पुलिस की टीम उनकी तलाश में उनके ठिकानों पर दबिश देगी। कोतवाली पुलिस ने एसीबी से जब्त दस्तावेजों की जांच की। हैंडराइटिंग एक्सपर्ट्स से जीपी सिंह के लिखावट का मिलान किया गया। डायरी सहित अन्य दस्तावेजों की जांच के बाद पुलिस ने थाने में उपस्थित होने को कहा गया था।

राजदार मणि भूषण का पुलिस दर्ज करवा चुकी कलमबंद बयान

कोर्ट से केस डायरी मिलने के बाद निलंबित एडीजी जीपी सिंह के खिलाफ पुलिस ने साक्ष्य जुटाना कर दिया था। शनिवार को एडीजी जीपी सिंह के राजदार बैंक मैनेजर मणी भूषण का कलमबंद बयान पुलिस ने दर्ज करवाया था।पूछताछ में बैंक मैनेजर मणि भूषण ने निलंबित एडीजी के छह राजदारों का नाम भी लिया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार ये कारोबार, राजनीति एवं महकमें से जुड़े हुए हैं।

जीपी सिंह पर भिलाई में भी दर्ज हो चुका है मामला

निलंबित आइपीएस जीपी सिंह की मुसीबत बढ़ती ही जा रही है। एक दिन पहले ही उन पर भिलाई के सूर्या विहार निवासी एक कारोबारी की शिकायत पर सुपेला थाना अंतर्गत स्मृतिनगर पुलिस चौकी में उनके खिलाफ 20 लाख रुपये वसूली करने के मामले में एफआइआर दर्ज की गई है।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local