रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। चातुर्मास के लिए एमजी रोड स्थित श्रीजिनकुशल सूरि जैन दादाबाड़ी में साध्वियों का मंगल प्रवेश गुरुवार को हुआ। यह पहली चातुर्मासिक मंगल प्रवेश यात्रा ऐसी रही, जिसमें बैंड-बाजे, हाथी-घोड़े नहीं थे, भक्त मंडलों की भीड़ नहीं देखी गई। सादगीपूर्ण माहौल में जिन शासन की जय-जयकार के साथ यह मंगल प्रवेश यात्रा सुबह ठीक 7.30 बजे श्री ऋषभदेव जैन मंदिर सदर बाजार से आरंभ हुई।

प्रवेश यात्रा के आगे-आगे फहरती हुईं धर्म ध्वजाएं रहीं। अगले क्रम में शारीरिक दूरी का पालन करते हुए सिर पर मंगल कलश धारण किए हुए पांच श्राविकाएं, मध्य में मंडल प्रमुखा साध्वी सम्यक दर्शनाश्रीजी सहित साध्वी मंडल और हाथों में धर्मध्वजाएं लिए हुए श्वेतवस्त्रधारी श्रावक गण पंक्तिबद्घ चल रहे थे। इस मौके पर मार्ग पर कुछ श्रद्घालुओं ने प्रवेश यात्रा का स्वागत किया। सदरबाजार में सर्वप्रथम महेंद्र कुमार, तरुण कुमार कोचर परिवार ने गहुली कर साध्वीवृन्दों का स्वागत किया । मंगल प्रवेश यात्रा के श्रीजिनकुशल सूरि जैन दादाबाड़ी पहुंचने के बाद साध्वी मंडल द्वारा जिनेश्वर परमात्मा के मंदिर और दादाबाड़ी में दर्शन-वंदन किया गया।

-- इस चातुर्मास पंचम गति को पाने के लिए करें पुरुषार्थः साध्वी सम्यकदर्शनाश्री

दादाबाड़ी प्रांगण के स्थायी पंडाल में हुई संक्षिप्त धर्मसभा में साध्वी श्री सम्यकदर्शनाश्रीजी म.सा. ने कहा कि इस कोरोना काल में हम जितना शासन के नियमों का पालन कर रहे हैं, क्या वैसा ही पालन हम जिन शासन के नियमों का करते हैं? यह आत्मचिंतन करें। शासन के नियम राज आज्ञा है तो जिन शासन के नियमों का पालन जिन आज्ञा है। हमें राज आज्ञा के साथ साथ जिन आज्ञा का भी पालन करना है। इस वर्ष चातुर्मास पांच महीनों का है अर्थात हमें इस चातुर्मास काल में एकाकी होकर पंचम गति यानी मोक्ष पाने की आकांक्षा से साधना-आराधना और धर्म पुरुषार्थ प्रारंभ करना है। चातुर्मास हमें कसायों की चौकड़ी पर विजय प्राप्त करने की पे्ररणा देता है।

-- श्रद्धालुओं को हैंड वॉश के बाद प्रवेश

प्रचार-प्रसार प्रभारी तरुण कोचर ने बताया कि धर्मसभा में केवल मास्क लगाए हुए श्रद्घालुओं को द्वार पर हैंड वॉश के बाद प्रवेश दिया गया। वहीं भीतर शारीरिक दूरी के साथ बैठक व्यवस्था सीमित सीट संख्या में की गई। उन्होंने बताया कि श्रद्धालु अपने घर पर भी प्रवचन सभा के सीधे प्रसारण का लाभ फेसबुक पर चातुर्मास समिति रायपुर के माध्यम से ले सकते हैं। इधर धर्मसभा में श्रीऋषभदेव मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष विजय कांकरिया, कार्यकारी अध्यक्ष अभय भंसाली, पूर्व ट्रस्टी प्रकाशचंद सुराना, प्रकाशचंद गोलछा, श्री जैन श्वेताम्बर चातुर्मास समिति के अध्यक्ष सुरेश भंसाली, महासचिव पारस पारख ने अपने विचार व्यक्त किए। सभा का संचालन सुशील कोचर व पारस पारख ने किया। वहीं निपुणा बाल वाटिका मंडल की सदस्याओं व श्राविका चंचल पारख ने स्वागत गीत की प्रस्तुति दी गई।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan