रायपुर। अनुसूचित जाति का तीन प्रतिशत और आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों का छह प्रतिशत आरक्षण कटौती के विरोध में जोगी कांग्रेस ने तेलीबांधा स्थित पवित्र जयस्तंभ के समक्ष विरोध प्रदर्शन किया। अजीत जोगी युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप साहू के नेतृत्व में तीन दर्जन कार्यकर्ताओं ने आरक्षण कटौती के विरोध में जोगी कांग्रेसियों ने आरक्षण संशोधन विधेयक 2022 की प्रतियां जलाई।

प्रदीप साहू ने बताया कि छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार के द्वारा आरक्षण के संदर्भ में विशेष सत्र बुलाकर अनुसूचित जाति का आरक्षण तीन प्रतिशत और आर्थिक रूप कमजोर वर्गों का छह प्रतिशत कर इन वर्गों के साथ अन्याय किया है। जिसका जोगी कांग्रेसी पुरज़ोर विरोध करती है। इसी परिप्रेक्ष्य में तेलीबांधा स्थित पवित्र जयस्तंभ का पूजा अर्चना कर जैस्तंभ के समक्ष विरोध प्रदर्शन किया गया। साहू ने कहा कि भूपेश सरकार के पास दलित और ग़रीबों के उत्थान के लिए कोई ठोस योजना नहीं हैं, बल्कि इन वर्गों को मिले अधिकारों को भी सरकार छिनने का काम कर रही है, इनके संवैधानिक अधिकारों का भी हनन कर रही है।

प्रदीप साहू ने बताया की अमित जोगी ने आरक्षण की उपरोक्त नीति "छत्तीसगढ़ सर्व वर्ग हिताय और छत्तीसगढ़िया सुखाय" की बुनियादी व्यवस्था को मजबूत करेगी और छत्तीसगढ़ की आने वाली पीढ़ी के लिए सामाजिक आरक्षण के साथ आर्थिक संरक्षण की व्यवस्था को लागू करने की दिशा में मील का पत्थर साबित होने की बात की थी, लेकिन सरकार ने अमित जोगी के मुख्यमंत्री से अनुरोध और उनके सुझावों पर अमल नहीं किया बल्कि अनुसूचित जाति और आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के आरक्षण पर कटौती करते हुए उनके साथ अन्याय कर दिया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से प्रदीप साहू, गोपाल कुर्रे, राजा बंजारे, सन्नी तिवारी, अजय देवांगन, योगेन्द्र देवांगन, मनसु निहाल, अजय सेन डेमन धीवर, अजय चंद्राकर, हरीश चंद्र रात्रे, विवेक बंजारे, संजू धृतलहरे, हरीश वर्मा आदि शामिल थे।

Posted By: Vinita Sinha

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close